MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

काम की बात: गेहूं की फसल में लगे आग, तो तुरंत इस नंबर पर करें फोन

अप्रैल का महीना आते ही खेतों में गेहूं की फसले पक जाती हैं और इसकी कटाई शुरू हो जाती है. लेकिन गेहूं की फसलों को सबसे ज्यादा नुकसान आग से होता है. हर साल लाखों की गेहूं की फसलें आगजनी का शिकार हो जाती हैं. ऐसे में इसी को देखते हुए पंजाब सरकार ने पहल शुरू की हैं.

अनामिका प्रीतम
फसलों में लगे आग तो इस नंबर पर करें संपर्क
फसलों में लगे आग तो इस नंबर पर करें संपर्क

देश में बढ़ते तापमान का असर सबसे ज्यादा कृषि क्षेत्र में दिखाई देता है. जैसे-जैसे देश में तापमान चढ़ता है वैसे-वैसे आगजनी की घटनाएं भी तेज होने लगती हैं. इन आगजनी की घटनाओं का सबसे ज्यादा शिकार गेहूं की फसले होती हैं. क्योंकि कहीं से भी एक चिंगारी गेहूं की फसलों में आग लगा सकती है और एक किसान से उसका सब कुछ छीन सकती हैं. इसी को देखते हुए पंजाब सरकार ने किसानों की मदद करने के लिए एक पहल शुरू की है.

बिजली विभाग ने की पहल(Electricity department took initiative)

इस बार मार्च महीने में हुई गर्मी की वजह से अप्रैल में ही गेहूं की फसले पक गई है. आने वाले कुछ दिनों में इसकी कटाई भी शुरू हो जायेगी. लेकिन ये बाजार तक पहुंचे इससे पहले ये आगजनी का शिकार भी हो सकती है. ऐसे में पंजाब के बिजली विभाग ने फसलों को आगजनी की घटनाओं से बचाने के लिए किसानों को चेतावनी देते हुए एडवाइजरी जारी की है.

ये भी पढ़ें:पंजाब सरकार का किसानों को लेकर बड़ा फैसला, इस तारीख के बाद नहीं होगी धान की खरीद

किसानों के लिए जारी एडवाइजरी की मुख्य बातें (Key points of advisory issued for farmers)

Punjab State Power Corporation Limited (PSEB) ने किसानों को चेतावनी देते हुए कहा है कि खेतों के आसपास इस सीजन में बीड़ी या सिगरेट या कोई भी ऐसी चीजों का सेवन ना करें जिससे चिंगारी निकलती हो.

बिजली के तारों को बांस या डंडे से ना छेड़ें. इससे आग लगने की संभावना ज्यादा हो जाती है.

किसानों को सख्त हिदायत देते हुए कहा गया है कि गेहूं की फसल को काटने के बाद तार या ट्रांसफार्मर के नीचे या आसपास ना रखें.

किसान बस दिन में ही हार्वेस्‍टर कंबाइन मशीन का उपयोग करें.

PSEB ने किसानों की मदद के लिए अपने एडवाइजरी में कुछ नंबर भी दिए है.

किसान आग लगने पर इस नंबर पर तुरंत संपर्क करें?(Farmers should contact this number immediately in case of fire)

पंजाब बिजली विभाग ने किसानों की सहायत के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है. हेल्पलाइन नंबर जारी करते हुए पावरकॉम ने कहा है कि अगर कहीं पर तारों में स्पार्किंग होती है या फिर ट्रांसफार्मर में कुछ गड़बड़ी दिखती है तो तुरंत इसकी सूचना नजदीकी विभाग को दें. पावरकॉम ने किसानों के लिए जो हेल्पलाइन नंबर दिया है वो कुछ इस प्रकार है, 96461-06835 या 96461-06836 पर कॉल कर संपर्क कर सकते हैं. 

इसके साथ ही एक whatsapp नंबर भी दिया गया हैजो इस प्रकार है 96461-06835.विभाग ने कहा है कि अगर आप whatsapp के जरिए घटना की सूचना देना चाहते है तो whatsapp करते वक्त,ये ध्यान रखें की दिए गए नंबर पर आग लगने या स्पार्किंग की फोटो और साथ में लोकेशन भी भेजें.

English Summary: Talk of work: If there is a fire in the wheat crop, then call on this number immediately Published on: 02 April 2022, 06:00 PM IST

Like this article?

Hey! I am अनामिका प्रीतम . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News