झींगा कारोबारियों को लग सकता है झटका

देश में चल रहा नोटबंदी और वायरल के अटैक का असर झींगे के फार्म्स पर भी साफ़ देखा जा सकता है । इससे सीफूड एक्सपोर्ट में भी अस्थायी तौर पर कमी आ सकती है। साल की पहली छमाही में देश से सीफूड का एक्सपोर्ट ऊंचा रहा है।

नवंबर में नोटबंदी के फैसले के बाद से एक्सपोर्टर्स के लिए कर्मचारियों का तनख्वाह देना मुश्किल हो रहा है। झींगा कारोबारियों का कहना है कि नोटबंदी के इस फैसले की वजह से समुद्र से मछली पकड़ने में गिरावट आई है। मछुआरे लैंडिंग सेंटर्स पर कैश में पेमेंट लेते हैं। हमें पिछले डेढ़ महीने से काफी मुश्किल हो रही है |

Comments