1. ख़बरें

कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिए जल्द से जल्द अप्लाई करें, 15 फ़रवरी है अंतिम तिथि

देश की कृषि को बढ़ावा देने में कृषि मशीनरी का एक बहुत बड़ा योगदान है. देश में मशीनीकरण भी बढ़ रहा है. लेकिन कुछ किसान परिवार अभी भी ऐसे हैं जो कि आधुनिक कृषि यंत्रो से वंचित है. लेकिन सरकार भी किसानों को आधुनिकीकरण से जोड़ने के लिए भरसक प्रयास कर रही है. इसलिए सरकार ने कृषि यंत्रों पर अनुदान का प्रावधान रखा है. केंद्र सरकार और राज्य सरकार कृषि यंत्रों पर अनुदान दे रही है. इसके लिए हरियाणा सरकार ने प्रक्रिया काफी पहले शुरू कर दी है. मशीनीकरण में अनुदान के लिए विविधिकरण के तहत अम्बाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, कैथल, करनाल,पानीपत, सोनीपत, जींद, फतेहाबाद और सिरसा जिले में मेज, मल्टीक्रॉप थ्रेशर, जीरो टिल सीड एवं अन्य तरीके के कई कृषि यंत्रो पर हरियाणा सरकार सब्सिडी दे रही है. इसके अलावा राष्ट्रिय खाद सुरक्षा मिशन के तहत अम्बाला, रोहतक, झज्जर, भिवानी, हिसार, मेवात और पलवल में किसानों को हस्तचालित स्प्रेयर और नैप्शेक स्प्रेयर, जीरो टिल, सीड ड्रिल, रोटावेटर, टर्बोसीडर और लैंड लेवेलेर पर सरकार द्वारा सब्सिडी दी जाएगी. इच्छुक किसान सब्सिडी के लिए किसान भाई Haryana Agriculture Implements subsidy Scheme 2018 के तहत आवेदन के लिए www.agriharyana.in और www.agriharyana.gov.in  पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं. इसके लिए अंतिम तिथि 15/2/2018 है. इसके लिए जरुरी दस्तावेज़.

  1. वैध ट्रैक्टर रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र.
  2. आधार कार्ड.
  3. बैंक विवरण .
  4. मोबाइल न.
  5. पेन कार्ड.
  6. वचन प्रमाण पत्र (जिसमें पिछले 5 वर्षों में कृषि यंत्र पर अनुदान न लिया हो)
  7. कृषि यन्त्र का बिल एवं आवेदनकर्ता का पासपोर्ट साइज़ फोटो.

किसान सब्सिडी सम्बन्धी किसी अन्य जानकारी के लिए जिला कृषि अधिकारी एवं सहायक कृषि अधिकारी के कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं.

English Summary: sabsidy

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News