News

बीजद का घोषणा पत्र जारी , किसानों मिला विशेष दर्जा

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha election 2019) के पहले चरण का मतदान कल यानी 11 अप्रैल होगा. इसी चुनाव के मद्देनजर अभी राजनीतिक पार्टियां अपने घोषणा पत्र (Manifesto 2019) जारी कर रही है. इस बार सबसे पहले कांग्रेस (CONGRESS) उसके बाद समाजवादी पार्टी (SP), उसके बाद बीजेपी (BJP) और आरजेडी ने अपना घोषणापत्र जारी किया है . अब इसी कड़ी में ओडिशा की सत्ताधारी पार्टी बीजू जनता दल (बीजद) ने भी अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी किया है.  पार्टी ने दावा कि है यह घोषणा पत्र जनता की राय लेकर तैयार किया गया है.  बता दे कि  बीजद का  घोषणा पत्र  मे इस बार ओडिशा को देश के सबसे महत्वपूर्ण सड़को से जोड़ने वाले बीजू एक्सप्रेस वे साथ कटक-भुवनेश्वर लिए मेट्रो के लिए वादा किया गया है. इस बार का घोषणा पत्र चार भागों में बटा हुआ है. घोषणा पत्र जारी करते वक्त बीजेडी अध्यक्ष सीएम नवीन पटनायक के साथ पार्टी के अन्य गणमान्य मौजूद थे.

किसान

घोषणा पत्र के सबसे पहले भाग में किसानों को लेकर जिक्र किया गया है कि प्रदेश के सभी किसानों के लिए कालिया (कृषक एसिस्टेंस ताइवलीहुड एंड इनकम ऑगमेंटेशन) चालू रहेगी. समान्य किसान को 10 हजार रूपये और भूमिहीन किसानों को 12 हजार रूपये वार्षिक मिलेंगे. यह रकम प्रत्येक तीन साल में रिवाइज्ड  होगी. एक लाख तक ब्याज मुक्त ऋण, कालिया स्कीम के पात्र किसानों के बच्चों को छात्रवृत्ति, किसानों के मदद के लिए 24 घंटे चलने वाले कॉल सेंटर,  ग्राम पंचायतों भंडारण सुविधा, केंद्र पर दबाव बनाने के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य 2930 रु. आदि सुविधाओं को मुहैया कराया जायेगा.

महिला

दुसरे भाग में महिला वर्ग की बात की गई है. महिलओं को बिजनेस के लिए 5 लाख तक ब्याजमुक्त, बालिकाओं के लिए प्राइमरी से स्नातक तक मुफ्त शिक्षा, बीजू स्वास्थ कल्याण योजना कवर दस लाख , गरीब बेटियों की शादी के लिए 25 हजार रु की आर्थिक मदद,  विधवा महिलाओं के लिए सोशल सिक्युरिटी गारंटी, एक्सीडेंट कवर (दुर्घटना बीमा) दिया जायेगा.

युवा

घोषणा पत्र के तीसरे भाग में युवाओ को ध्यान में रखा गया है. ओडिशा के सभी उद्योगों में पढ़े लिखे युवाओं को 75 प्रतिशत जॉब रिजर्वेशन, वर्ल्ड स्किल्ड प्रोफेशनल्स डेढ़ लाख युवाओं को सरकारी नौकरी स्टार्टअप के 10 लाख तक की मदद,  मेक इन ओडिशा के जरिए 30 लाख नौकरी, ब्याजमुक्त शिक्षा, विश्वविद्यालयों में वाईफाई, जॉब फीस समाप्त करने का वादा किया गया है.

जुहार

ज्वाइंट अपलिफ्टमेंट आफ हैबिटेशन्स एंड रीजन्स विकास में क्षेत्रीय विषमता दूर करना बरगढ़, बलंगीर, बौद्ध, देवगढ़, झारसुगुडा, कालाहांडी, संबलपुर, सोनपुर, जिले और अट्टामलिक, कुचिंडा व नीलगिरि में परिषद गठित करने के साथ 50 प्रतिशत महिलाओं के लिए आरक्षण  देने का वादा किया गया है.



Share your comments