बर्बादी की बारिश ने किसानों को किया निराश...

बीती रात अन्नदाताओं पर जमकर 'आफत' बरसी. किसानों की महीनों की मेहनत पर तेज़ हवाओं, बरसात और ओलावृष्टि के कारण 'पानी' फिर गया. कई जगहों पर नुकसान इतना है कि कृषि विभाग ने तुरंत प्रभाव से अधिकारियों को आदेश दिए है बीती रात फतेहाबाद में भी तेज हवाओं के साथ बरसात हुई और जिले में कई जगहों पर ओलावृष्टि के कारण गेहूं की फसल चौपट हो गई.

तेज हवाओं के साथ हुई बरसात और ओलावृष्टि के कारण फसलों के नुकसान के बारे में जिला फतेहाबाद के कृषि उपनिदेशक डॉक्टर बलवंत सहारण ने बताया कि जिले में बरसात तो इतनी ज्यादा नहीं हुई है लेकिन तेज हवाओं के कारण खेतों में खड़ी फसल बिछ गई है जिसके कारण फसल में नुकसान हुआ है.

डॉक्टर सहारण ने बताया कि तेज हवाओं के अलावा जिले में कई जगहों पर ओलावृष्टि हुई है जिसके कारण गेहूं की फसल बर्बाद हो गई. डॉक्टर सहारण ने बताया कि बीती रात तेज हवाओं और ओलावृष्टि के कारण फसलों में नुकसान के आकलन के लिए उन्होंने खंड स्तर पर सभी टीमों को निर्देश जारी कर दिए हैं और यदि में नुकसान के आकलन के लिए गांव में पहुंच रही हैं.

उन्होंने कहा कि मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक आगामी 2 दिनों में मौसम बिल्कुल साफ रहेगा जिसके कारण नुकसान में कमी की संभावना है. वहीं कृषि विभाग के उप निदेशक ने किसानों से अपील की है कि किसान भी तुरंत अपने नजदीकी कृषि अधिकारी से संपर्क कर अपनी फसल के नुकसान का आकलन करवाएं ताकि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसान को उसकी फसल के नुकसान की भरपाई करवाई जा सके.

डॉ बलवंत सहारण ने बताया कि अगले 2 दिन में कृषि विभाग द्वारा और फसल बीमा कंपनियों के अधिकारियों द्वारा जिले में बरसात तेज हवा और ओलावृष्टि के कारण फसलों में नुकसान का आकलन कर लिया जाएगा और इसकी रिपोर्ट तैयार कर उच्च अधिकारियों को भेज दी जाएगी.

Comments