MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

नवाज़ शरीफ की भैंसे बेच पाकिस्तान पीएम ने कमाए करोड़ों

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ की 8 भैंसों की नीलामी कर रकम अपने खातों में जमा कर ली है और कुछ दिन पहले कारे नीलाम कर भी रकम जमा की थी जहाँ उनका परिवार रहता था | पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान के आदेश के बाद खर्चों में कटौती करके इन्हे नीलाम करने का फैसला किया |

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ की 8 भैंसों की नीलामी कर रकम अपने खातों में जमा कर ली है और कुछ दिन पहले कारे नीलाम कर भी रकम जमा की थी जहाँ उनका परिवार रहता था | पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान के आदेश के बाद खर्चों में कटौती करके  इन्हे नीलाम करने का फैसला किया |

प्रधानमंत्री  इमरान खान की जीत में उनके भ्रष्टाचार मुक्त के वादों का बहुत महत्वपूर्ण रोल है | अपनी गद्दी पर बैठने के बाद उन्होंने खर्चों पर कटौती करने वाले कई कदम उठाए | लेकिन आलोचकों का कहना है की यह सब ढोंग है यह सिर्फ लोगो के सामने अच्छा बनाने के लिए किया जा रहा है | सूत्रों से पता चला है की इमरान खान अपने घर से दफ्तर भी अपने निजी  हेलिकॉफ्टर में जाते है जबकि उनका दफ्तर घर से सिर्फ 15 किमी है | इस वजह से वह  जनता के हास्य के पात्र बन गए |

नवाब शरीफ कि भैंसों कि नालामी :

भैंसो कि नीलामी से 14 लाख के करीब रकम जमा कि और कारे बेच कर 5 करोड़ रुपये कमाई हुई | शरीफ के समर्थकों ने इन भैंसो के प्रति खासा प्यार दिखाया

नीलामी कर कमाए उम्मीद से ज्यादा :

प्रधानमंत्री कार्यालय में काम कर रहे एक कर्मचारी ने बताया कि  नीलामी में उम्मीद से ज्यादा कमाई हुई है |पर सभी इस नीलामी से खुश नहीं लग रहे |रावलपिंडी  से आए एक ग्राहक ने कहा कि " ऐसी भैंसे बाजार में आधी  किम्मत पर मिल रही है |इनकी कीमत बहुत ज्यादा है  लेकिन ऊँची  कीमत सरकार के लिए अच्छी खबर है |क्योंकि  वो गंभीर  आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रही है | हालाँकि यह नीलामी उस समस्या से लड़ने के लिए अवश्यक है |                   

English Summary: Pakistan PM sells Nawaz Sharif buffaloes Published on: 28 September 2018, 06:34 AM IST

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News