News

प्याज पर चला आयकर विभाग का डंडा तो तपाक से कम हो गये दाम

onion

सब्जियों के दाम इस समय सातवें आसमान पर हैं. प्याज के महंगे दामों ने तो मानो रसोई में आग ही लगा रखी है. दिल्ली समेत एनसीआर में पिछले हफ्ते 100 रुपये किलो बिककर प्याज ने हाहाकार मचा दिया. प्याज की सेंचुरी लगते ही हर किसी ने कीमतों को लेकर अपने तर्क देने शुरू कर दिये. किसी ने बरसाती नुकसान को कारण बताया तो किसी के पास खराब मौसम को लेकर अपने विचार थे.

प्याज की आग सरकरी महकमे तक भी पहुंची और अब, जब आनन-फानन में आयकर विभाग का डंडा चला तो कीमते तपाक से कम हो गई. खबरों के मुताबिक आयकर विभाग ने देशव्यापी स्तर पर कारोबारियों के गोदामों और दुकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की. जिसके बाद मंडियों में भाव 10 से 20 रूपये प्रति किलो कम हो गये.

बड़े स्तर पर चल रहा है प्याज की जमाखोरी का खेलः

बता दें कि सितम्बर-अक्टूबर माह में महाराष्ट्र व मध्य प्रदेश में भारी बरसात हुई थी. जिस कारण वर्तमान में प्याज के दाम आसमान छू गये. दिन-प्रतिदिन बढ़ते हुए प्याज के दाम उछलकर 100 रूपये किलो तक हो गये. इस बीच ऐसी खबरें भी सुनने में आयी कि भाव बढ़ने के बाद भी किसानों को विशेष लाभ नहीं हो रहा. लेकिन बड़े स्तर पर व्यापारी जमाखोरी कर मोटा पैसा कमा रहे है.

Income Tax Department

जमाखोरों पर कसा आयकर विभाग ने शिकंजाः

प्याज की जमाखोरी की लगातार खबरें मिलने पर आयकर विभाग हरकत में आया और देशव्यापरी स्तर पर छापेमारी शुरू की. इस छापेमारी में बड़े स्तर पर ऐसे व्यापारी एवं कारोबारी आयकर के हत्थे चढ़े जिन्होनें अवैध तौर पर प्याज का भंडारण कर रखा था.

दोषियों पर होगी का कार्रवाईः

प्याज की जमाखोरी पर आयकर विभाग ने मीडिया को बताया कि इस मामले को लेकर हम गंभीर हैं. जमाखोरी करने वालों पर हमारी नजर है और दाषियों पर सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जायेगी.



English Summary: onion price decrease due to income tax raid on onion businessman

कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। हमारे भविष्य के लिए आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

आप हमें सहयोग जरूर करें (Contribute Now)

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in