जैतून की पत्ती 51 रूपये किलो..

जयपुर। कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी की उपस्थिति में रविवार को पंत कृषि भवन में जैतून चाय उत्पादक कंपनी ऑलिटिया फूड्स और जैतून उत्पादक किसान समूह राजू देवी चांडक प्रोपराइटर के बीच जैतून की पत्तियों की खरीद के लिए एमओयू साइन हुआ। एमओयू के अनुसार कंपनी आगामी 20 वर्षों तक किसानों के इस समूह से 51 रुपए प्रति किलो की दर से जैतून पत्तियां खरीदेगी और प्रति वर्ष इस दर में 10 फीसदी की बढ़ोतरी होगी। यह इस तरह का देश का पहला एमओयू है। 

कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने बताया कि विश्व में पहली बार जैतून प्रसंस्कृत चाय की स्थापना बस्सी, जयपुर में हुई है। यहां जितनी चाय का उत्पादन हो रहा है, उसे कहीं ज्यादा मांग विभिन्न देशों से आ रही है। जैतून उत्पादक किसानों का अभी तक फल ही बिक रहा था, लेकिन अब पत्तियां भी बिकने भी लगी हैं, जिससे उन्हें ज्यादा लाभ होगा। उन्होंने बताया कि जैतून की चाय में कई तरह के औषधीय गुण पाए जाते हैं और इसका सेवन 12 तरह के कैंसर को रोकने के लिए लाभप्रद है। सैनी ने बताया कि राज्य के कई हिस्सों में दार्जलिंग और आसाम के चाय बागानों की तरह जैतून बागान लगाए जाएंगे। अभी राज्य के 5 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में जैतून का पौधरोपण किया गया है। इसके विस्तार के प्रयास किए जा रहे हैं। जिन जिलों में जैतून पौधरोपण के लिए अनुदान दिया जा रहा है, वहां के अधिकारियों से हर माह प्रगति रिपोर्ट मंगवाई जाएगी। उन्होंने राज्य में पहली बार जैतून उत्पादक किसानों की एसोसिएशन बनने पर बधाई दी। 

कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने बताया कि जिन किसानों ने अनुदान पर जैतून के पौधे लिए थे, लेकिन किन्हीं कारणों से वे नहीं उगे या मर गए, ऎसे किसानों को उतने पौधे गैप फिलिंग के रूप में निशुल्क उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि सरकार किसानों के प्रति संवेदनशील है और जैतून उत्पादक किसानों का नुकसान नहीं होने देंगे। इस अवसर पर जयपुर शहर सांसद रामचरण बोहरा, राजस्थान ऑलिव कल्टीवेशन लिमिटेड के मुख्य ऑपरेटिंग अधिकारी योगेश वर्मा, ऑलिटिया फूड्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के प्रबंध निदेशक धर्मपाल गढ़वाल सहित बड़ी संख्या में प्रगतिशील किसान उपस्थित थे।

Comments