कृषि प्रौद्योगिकी को सूचना प्रौद्योगिकी से जोड़ना जरूरी: नायडू

उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि देश में कृषि क्षेत्र के सुधार के लिए कृषि प्रौद्योगिकी को सूचना प्रौद्योगिकी के साथ मिलाया जाना चाहिए। यह बात उन्होंने विशाखापत्तनम में बतौर मुख्य अतिथि आंध्र प्रदेश कृषि प्रौद्योगिकी सम्मेलन 2017 के उद्घाटन अवसर पर कही।

उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था में कृषि का अहम योगदान है। कृषि, मछलीपालन और वानिकी के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं। यह उभरते हुए क्षेत्र हैं। उन्होंने बताया कि हमारे सामने कई चुनौतियां हैं जिनसे निपटने के लिए सरकार ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है। हमें नवाचार को अपनाना होगा तभी हम यह लक्ष्य हासिल कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि उत्पादकता बढ़ाने के लिए टेक्नोलाजी का उपयोग किया जाना चाहिए। हमें बढ़ती आबादी की जरूरत के अनुसार घरेलू खाद्य सुरक्षा रणनीति विकसित करनी होगी। तकनीकी के माध्यम से किसानों के जीवन में अनेक प्रकार से सुधार लाया जा सकता है।

इस अवसर पर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एम. चंद्रबाबू नायडू, आंध्र प्रदेश के कृषि, बागवानी, रेशम कीट पालन और कृषि प्रसंस्करण मंत्री सोमिरेड्डी चंद्रमोहन रेड्डी, आंध्र प्रदेश के मानव संसाधन विकास मंत्री गंताश्रीनिवास राव, आंध्र प्रदेश के धर्मादा मंत्री पाईडीकोंडला मनिकलाया राव व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।  

Comments