MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

MSP Price Hike: खरीफ फसलों के लिए बढ़ाई गई न्यूनतम समर्थन मूल्य, जानें किन फसलों पर कितना बढ़ा एमएसपी

मानसून से पहले केंद्र सरकार ने किसानों को बड़ी खुशखबरी दी है. सरकार ने विपणन सत्र 2023-24 के दौरान खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी कर दी है, जिसके बाद से देश के किसानों में उत्साह देखने को मिल रहा है.

अनामिका प्रीतम
msp price increase on kharif crops for 2023-24
msp price increase on kharif crops for 2023-24

देश के किसानों को केंद्र सरकार ने बड़ी सौगात दी है. सरकार ने किसानों की आय बढ़ाने के लिए विपणन सीजन 2023-24 की खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) बढ़ा दिया है. इसके बाद धान, सोयाबीन, मूंग सहित कई फसलों के एमएसपी रेट में बढ़ोतरी कर दी गई है, जिसका सीधा फायदा किसानों को मिलेगा. आइये जानते हैं कि किन फसलों पर कितना रुपये बढ़ाया गया है...

खरीफ विपणन सत्र 2023-24 के लिए MSP की बढ़ी दर इस प्रकार है-

फसलें 2022-2023 (रु. प्रति क्विंटल) 2023-2024 (रु. प्रति क्विंटल) बढ़ोतरी (%)
मूंग 7,755 8,558 10.35
तिल 7,830 8,635 10.28
कॉटन (लॉन्ग स्टेपल) 6,380 7,020 10.03
मूंगफली 5,850 6,377 9.01
कपास (मध्यम स्टेपल) 6,080 6,620 8.88
ज्वार-मालदंडी 2,990 3,225 7.86
रागी 3,578 3,846 7.49
ज्वार-हाइब्रिड 2,970 3,180 7.07
धान (समान्य) 2,040 2,183 7.01
सोयाबीन (पीला) 4,300 4,600 6.98
धान-ग्रेड ए 2,060 2,203 6.94
मक्का 1,962 2,090 6.52
बाजरे 2,350 2,500 6.38
नाइजरसीड 7,287 7,734 6.13
तूर/अरहर 6,600 7,000 6.06
सूरजमुखी के बीज 6,400 6,760 5.63
उड़द 6,600 6,950 5.30

ये भी पढ़ें- MSP: क्या है फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी), कैसे हुई इसकी शुरुआत?

विपणन सीजन 2023-24 के लिए खरीफ फसलों के लिए एमएसपी को बढ़ावा देने के सरकार के इस फैसले से किसानों को बेहतर आय मिलने और उनकी आजीविका में सुधार होने की उम्मीद जाताई जा रही है. एमएसपी में वृद्धि करके, सरकार का उद्देश्य किसानों को चावल और गेहूं जैसे पारंपरिक अनाजों से आगे बढ़कर अपनी फसल विकल्पों में विविधता लाने के लिए प्रोत्साहित करना है. हाल के वर्षों में, इन फसलों के लिए उच्च एमएसपी की पेशकश करके दलहन, तिलहन और पोषक अनाज (श्री अन्न) की खेती को सक्रिय रूप से बढ़ावा दिया गया है.

2022-23 के तीसरे अग्रिम अनुमान के अनुसार, भारत का कुल खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 330.5 मिलियन टन तक पहुंचने का अनुमान है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 14.9 मिलियन टन अधिक है. यह उल्लेखनीय वृद्धि पिछले पांच वर्षों में खाद्यान्न उत्पादन में सबसे अधिक वृद्धि का प्रतिनिधित्व करती है, जो देश के किसानों के कड़ी मेहनत को दर्शाती है.

English Summary: msp price increase on kharif crops for 2023-24 Published on: 08 June 2023, 02:50 PM IST

Like this article?

Hey! I am अनामिका प्रीतम . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News