1. ख़बरें

मदर डेयरी ने फ्रोजन जामुन पल्प बाजार में उतारा, किसान की होगी मोटी कमाई

आदित्य शर्मा
आदित्य शर्मा

किसानों और उपभोक्ताओं को जोड़ने के साथ ही लाभान्वित करने के उद्देश्य से राष्ट्रीय डेरी विकास बोर्ड (NDDB) की पूर्ण स्वामित्व की सब्सिडियरी मदर डेयरी ने जामुन के एक नए उत्पाद को बाजार में उतारा है. सफल ब्राण्ड के तहत मदर डेयरी ने दिल्ली एनसीआर में उपभोक्ताओं के लिए फ्रोजन जामुन पल्प की शुरुआत की है. इस उत्पाद को शत-प्रतिशत जामुन फल से तैयार किया है. इसमें सीधे तौर पर झारखंड के किसानों को लाभ मिलेगा क्योंकि जामुन फल वहां के किसानों से खरीदा जा रहा है. वहीं यह कदम किसानों के लिए प्रत्यक्ष बाजार और स्थायी आजीविका उपलब्ध कराने में भी कारगर साबित होगा.

क्या है इसकी खासियत ?

उपभोक्ताओं के लिए यह फ्रोजन जामुन पल्प 99 रुपये में 250 ग्राम एक री-युजेवल टब में उपलब्ध कराया जाएगा. इस प्रोडक्ट की शेल्फ लाइफ 6 माह तक होगी. वहीं एक 250 ग्राम का यह फ्रोजन पैक 500-700 ग्राम ताज़ा जामुन के बराबर होगा. मदर डेयरी ने सफल के जरिये 1 लाख घरों तक पहुंचने का लक्ष्य निर्धारित किया है. शुरुआत में इस उत्पाद को सफल के 300 आउटलेट्स पर उपलब्ध कराया जाएगा. उसके बाद कंपनी की योजना है कि इसे सामान्य व्यापार आउटलेट्स और ई-कॉमर्स में प्रवेश करवाया जाएगा.

क्या है जामुन फल या पल्प के फायदे ?

कंपनी के एक अधिकारी ने इसके लाभ के बारे में बताया कि जामुन का फल कई गुणों से भरा हुआ है. जामुन में विटामिन सी और आयरन पाया जाता है. यह ब्लड शुगर के रोगियों के लिए भी काफी लाभकारी है क्योंकि इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है. इसके साथ ही उत्पाद को इम्यूनिटी बढ़ाने के मकसद से भी दिया जा सकता है. इसके साथ ही जामुन प्रेमियों को अब सीज़न का इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा और अब वो घर पर ही आराम से अपना मनचाहा उत्पाद तैयार कर सकते हैं.

जामुन का सोर्सिंग सफल द्वारा सीधे झारखंड से किया जा रहा है और इसकी प्रोसेसिंग सफल की रांची यूनिट में किया जा रहा है. हालांकि मदर डेयरी इसके अलावा भी कई प्रकार के उत्पाद राज्य में प्रोसेसिंग करवा चुकी है जिसमें टमाटर, केला, आंवला, जामुन, गाजर का पेस्ट, हल्दी का पेस्ट आदि अन्य चीज़ें शामिल हैं को वो राज्य में सीधे तौर पर किसानों से ले रही है.

English Summary: Mother Dairy launches frozen berries in pulp, farmer can earn huge

Like this article?

Hey! I am आदित्य शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News