News

मुस्लिम अगर इकट्ठे होकर वोट डालें तो मोदी निपट जाएंगे : सिद्धू

भाजपा छोड़ कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू अपने बयानों की वजह से अकसर मीडिया जगत और राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं में बने रहते है. हाल ही में दिए गए अपने बयान की वजह से कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू फिर से चर्चाओं में आ गए है और पाकिस्तानी मीडिया जगत में हीरो बन गए हैं. दरअसल मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने सोमवार को बिहार के कटिहार जिले के बारसोई में कांग्रेस प्रत्याशी तारिक अनवर के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि मुस्लिम अगर इकट्ठे होकर वोट डालें तो मोदी निपट जाएंगे. गौरतलब है कि आज पाकिस्तानी प्रिंट मीडिया ने उनके बयान को प्रमुखता से छापा है. रेडियो पाकिस्तान ने भी उनके बयान को जगह दी है.

मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने क्या दिया था बयान

कटिहार में सोमवार को चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे मंत्री सिद्धू ने मुस्लिम समुदाय से एकजुट होकर कांग्रेस पार्टी को वोट देने की अपील की थी. सिद्धू ने कहा था कि 'आप (मुस्लिम समुदाय) यहां अल्पसंख्यक होकर भी बहुसंख्यक हैं. आप अगर एकजुटता दिखाएंगे, तो आपके प्रत्याशी तारिक अनवर को कोई भी नहीं हरा सकता है.' सिद्धू ने आगे कहा था कि 'मुसलमान भाइयों, आप बिहार में 68 फीसद हो, मैं आपको चेतावनी देने आया हूं. अगर आप लोग एकजुट हो गए तो मोदी को बुरी तरह हरा दोगे, आप लोग हमारी पगड़ी की तरह हो. आप लोगों को पंजाब ने बहुत प्यार दिया है और आगे भी वहां और प्यार मिलेगा, क्योंकि मैं वहां पर मंत्री हूं. आप लोग भाजपा को उखाड़ फेंको, ये मेरी विनती है.

बयान की जमकर हो रही है आलोचना

सिद्धू के बयान को लेकर अब देश के राजनीतिक दल आक्रामक हो गए हैं. शिरोमणि अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने सिद्धू कहा है कि सरदार नहीं, सिद्धू गद्दार हैं. इस मामले में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि चुनाव आयोग सिद्धू पर कार्यवाही करते हुए उनके चुनाव प्रचार करने पर रोक लगाए. उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने आगे कहा कि नवजोत अपनी पाकिस्तान यात्रा के दौरान वहां के सेना प्रमुख से गले मिलकर देश को अपमानित करने का काम किया था.



Share your comments