News

केवीके द्वारा खरीफ फसलों पर किसानों को प्रशिक्षण

उप संचालक कृषि विकास कल्याण एवं कृषि विकास ए.पी. सुमन,  डॉ. बी. एस किरार, वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख एवं डी. पी. सिंह वैज्ञानिक द्वारा विगत दिवस गांव गौरा वि. खं. गुनौर में खरीफ फसलों की उन्नत तकनीक पर प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण में डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा, आई.ए.एस. मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत भी उपस्थित रहे। उन्होंने कृषकों को मनरेगा अन्तर्गत फलदार पौधे रोपण की जानकारी दी गई साथ कृषकों से कपिल धारा कुआं निर्माण की समीक्षा की गयी और कृषकों से अन्य विषयों पर भी चर्चा की गयी।

प्रशिक्षण में वैज्ञानिक ने धान में खरपतवार नाशक दवा विसपायरिबेक सोडियम-32 मि.ली. प्रति एकड़ 200 ली. पानी में मिलाकर घासकुल, मौथा तथा चौड़ी पत्ती वाले नींदा के नियंत्रण हेतु छिड़काव करें और सकरी पत्ती हेतु फिर्नोक्साप्रोप पी ईथाइल 200 मिली. प्रति एकड़ छिड़काव करें।

उड़द, मूंग, सोयाबीन में नींदा नियंत्रण हेतु इमेजाथापर या क्यूजालोफाप दवा छिड़काव करें। उड़द, अरहर, सोयाबीन, मूंग में पत्ती खाने वाली इल्ली नियंत्रण हेतु प्रोफेनोफॉस 50 ई.सी. 400 मिली. या क्विनॉलफॉस 25 ई.सी., 600 मिली. प्रति एकड़ घोल बनाकर छिड़काव करें। उपसंचालक कृषि द्वारा कृषि विभाग द्वारा शासन की कृषक कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी गयी साथ ही बीज पर कृषकों को मिलने वाले अनुदान की जानकारी दी गई और बीज ग्राम योजना के बारे में भी बताया गया तथा प्रशिक्षण वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, राय एवं क्षेत्रीय ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी भी उपस्थित रहे।



Share your comments