News

कोसी में भी होगा बटेर पालन

बिहार के सहरसा जिले में समितियों को आर्थिक रूप से समृद्ध करने के लिए सहकारिता विभाग ने समेकित सहकारी विकास परियोजना आइसीडीपी के तहत सहरसा व सुपौल जिले में बटेर पालन की योजना बनाई है। इसके लिए सहकारी समितियों को विभाग द्वारा हर संभव सहायता दी जाएगी। बटेर की बढ़ती मांग के कारण यह समितियों के आर्थिक उन्नयन का कारण बनेगा। इसके लिए विभाग ने प्रथम चरण में सहरसा में 15- 15 लाख की लागत से दो यूनिट स्थापना करने का निर्णय लिया है। बाद में अन्य समितियों को भी इसके लिए ऋ ण उपलब्ध कराया जाएगा। इस कवायद से एक तरफ जहां लोगों को रोजगार मिलेगा, वहीं पलायन पर भी अंकुश लगेगा। आधे अनुदान पर 10 वर्ष तक सूद रहित राशि रखने का है प्रावधान
बटेर पालन यूनिट स्थापना के लिए आइसीडीपी योजना के तहत समितियों को जो राशि दी जाएगी, उसमें 50 प्रतिशत अनुदान का प्रावधान है। शेष 50 प्रतिशत राशि 10 वर्षों में बिना सूद जमा करने की सुविधा दी गई है। इस राशि को भी सरकार वापस नहीं लेगी, बल्कि यह जिले के समितियों की संपित्त होगी।


English Summary: Kosi will also have quail rearing

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in