कोसी में भी होगा बटेर पालन

बिहार के सहरसा जिले में समितियों को आर्थिक रूप से समृद्ध करने के लिए सहकारिता विभाग ने समेकित सहकारी विकास परियोजना आइसीडीपी के तहत सहरसा व सुपौल जिले में बटेर पालन की योजना बनाई है। इसके लिए सहकारी समितियों को विभाग द्वारा हर संभव सहायता दी जाएगी। बटेर की बढ़ती मांग के कारण यह समितियों के आर्थिक उन्नयन का कारण बनेगा। इसके लिए विभाग ने प्रथम चरण में सहरसा में 15- 15 लाख की लागत से दो यूनिट स्थापना करने का निर्णय लिया है। बाद में अन्य समितियों को भी इसके लिए ऋ ण उपलब्ध कराया जाएगा। इस कवायद से एक तरफ जहां लोगों को रोजगार मिलेगा, वहीं पलायन पर भी अंकुश लगेगा। आधे अनुदान पर 10 वर्ष तक सूद रहित राशि रखने का है प्रावधान
बटेर पालन यूनिट स्थापना के लिए आइसीडीपी योजना के तहत समितियों को जो राशि दी जाएगी, उसमें 50 प्रतिशत अनुदान का प्रावधान है। शेष 50 प्रतिशत राशि 10 वर्षों में बिना सूद जमा करने की सुविधा दी गई है। इस राशि को भी सरकार वापस नहीं लेगी, बल्कि यह जिले के समितियों की संपित्त होगी।

Comments