आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. ख़बरें

मोदी के स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने में झारखंड सरकार प्रतिबद्ध: रघुवर दास

झारखंड सरकार ने एक बार फिर झारखंड को सौगात दी है। झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा की प्रधनमंत्री के द्वारा दिए गए आश्वासन और स्वच्छ भारत के सपने को हम साकार करेंगे और दो अक्टूबर 2019 तक महात्मा गाँधी की 150वीं  जयंती के मौके पर स्वच्छ भारत का सपना जो प्रधानमंत्री ने देखा है उसे देश जरूर पूरा करेगा।

उद्योग जगत के साथ सीएसआर की बैठक में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने प्रधानमंत्री के सपने को साकार करने की बात कही।  और साथ ही कहा की अक्टूबर 2018 तक प्रधानमंत्री का सपना पूरा करने के लिए राज्य सरकार पूरी कोशिश कर रहा है। इसी के साथ मुख्यमंत्री रघुबर दास ने कहा कि प्रकृति की सम्पदा को देखते हुए झारखंड सम्पन्न है लेकिन उसके बावजूद झारखंड गरीबी और कुपोषण की  समस्या से जूझ रहा है , यह सरकार के लिए बहुत शर्मिंदगी की बात है। कुपोषण और दूषित जल जनित बीमारियों से निबटने के लिए स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति को मुख्यमंत्री ने प्राथमिकता देने की बात कही। 

मुख्यमंत्री रघुबर दास का कहना है की 14 अप्रैल से लेकर पांच मई तक ग्राम स्वराज अभियान चलाया गया।  इसके तहत राज्य के 252 गांवों में सरकार की सात फ्लैगशिप योजनाओं का शत प्रतिशत आच्छादन सफलतापूर्वक किया गया। एक जून से 15 अगस्त तक राज्य के 6512 गांव में संतृप्त किया जायेगा। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए राज्य सरकार और जिला प्रशासन प्रतिबद्ध है।  मुख्यमंत्री रघुबर दास का कहना है की जिस शहर में हम रहते हैं उसके प्रति हमरी ज़िम्मेदारी बनती है की हम उसे विकसित करें। शहर में सीसीटीवी कैमरे लगाने, प्लास्टिक को पूरी तरह से प्रतिबंधित करने तथा ग्रामीण क्षेत्र में स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था को सीएसआर के कार्य में शामिल किया गया।

इस बैठक में कई कंपनियां भी शामिल रही साथ ही कई कंपनियों ने झारखण्ड को विकसित करने के लिए योगदान दिया। उद्योग जगत ने सीसीटीवी कैमरा व जल मीनार देने की घोषणा कीटाटा मोटर्स ने आसनबनी में जल मीनार बनाने और पांच सीसीटीवी कैमरा देने की घोषणा की. आइएसडब्ल्यूपी ने कोवाली में जल मीनार बनाने, टीएसपीडीएस ने डुमरिया में जल मीनार बनाने आदि की घोषणा की गई।  

 

वर्षा..... 

English Summary: Jharkhand government committed to fulfill Modi's dream of India's dream: Raghuvar Das

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News