News

बिहार के गावों में ड्रोन द्वारा खेतों का निरीक्षण

बिहार में अब तक कुल 13 जिलों बक्सर, रोहतास, कैमूर, सिवान, पूर्वी चम्पारण, सीतामढ़ी, शिवहर, मधेपुरा, अररिया, कटिहार, भोजपुर, किशनगंज एवं सहरसा में शत्-प्रतिशत धान की रोपनी हो चुकी है। भागलपुर, गया, जहानाबाद, नालंदा, पटना, मधुबनी, सारण, अरवल, समस्तीपुर, मुंगेर, औरंगाबाद, दरभंगा, पूर्णियाँ, गोपालगंज, बांका, लखीसराय, सुपौल और खगड़िया अर्थात् कुल 18 जिलों में 92-99 प्रतिशत तक धान का आच्छादन हुआ है। जिलावार सूक्ष्म विश्लेषण से पता चला है कि राज्य के 7 जिलों के 29 प्रखण्डों में निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध अब तक 50 प्रतिशत से कम तथा कहीं-कहीं 20 प्रतिशत भी धान की रोपनी हुई है। प्रखण्डों से प्राप्त प्रतिवेदन को बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर, भागलपुर में उपलब्ध ड्रोन तकनीक से नवादा जिले के पकड़ीबरावॉ तथा काशीचक एवं जमुई जिला के अलीगंज तथा सिकन्दरा प्रखण्ड का सर्वे कराया गया। ड्रोन द्वारा 50 फीट से लेकर 500 फीट की ऊँचाई से संबंधित प्रखण्डों का विभिन्न गाँवों का सर्वेक्षण किया गया और यह पाया गया कि धान का प्रतिवेदित आच्छादन सही है। इन प्रखण्डों के गाँवों में सामान्य से काफी कम आच्छादन हुआ है। उन्होंने किसान भाई-बहनों से अपील किया कि कृषि विभाग द्वारा 29 प्रखण्डों में, जहाँ धान का आच्छादन कम हुआ है, वहाँ के लिए वैकल्पिक फसलों के बीज की व्यवस्था की गई है, उसे खेतों में लगाकर शत्-प्रतिशत खेतों को आच्छादित करें। बेगूसराय जिले में किसानों की रूची के अनुसार सोयाबीन के बीज की भी व्यवस्था की गई है, यह सब ।

 

बिहार के कृषि मंत्री ने कहा कि अच्छी वर्षा होने के कारण धान के खड़ी फसल की स्थिति अच्छी है। राज्य में अब तक 32.27 लाख हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में धान का आच्छादन हुआ है, जो कुल रकबा का 94.92 प्रतिशत है। राज्य में इस वर्ष खरीफ मौसम में धान की खेती करने का लक्ष्य 34 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में निर्धारित किया गया है। साथ ही, राज्य में अब तक 3.96 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में मक्का का बुआई हुआ है, यह कुल रकबा का 83.43 प्रतिशत है। इस वर्ष खरीफ मौसम में कुल 4.75 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में मक्का आच्छादन का लक्ष्य निर्धारित है।

डॉ० कुमार ने कहा कि राज्य में खरीफ फसलों का आच्छादन जिन क्षेत्रों में नहीं हो पायेगा, वहाँ खाली रह गये खेतों में शत्-प्रतिशत आच्छादन सुनिश्चित करने हेतु किसानों को निःशुल्क वैकल्पिक फसलों के बीज उपलब्ध कराये जायेंगे। उन्होंने बताया कि इसके लिए बिहार राज्य बीज निगम द्वारा राज्य के जिलों में वैकल्पिक फसलों के बीज के रूप में 3,200 क्विंटल मक्का का बीज, 7,465 क्विंटल अरहर का बीज, 1,706 क्विंटल उड़द का बीज तथा 1,050 क्विंटल कुल्थी का बीज उपलब्ध करा दिया गया है।



English Summary: Inspect the fields by the drone in the villages of Bihar

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in