News

भविष्य में चीनी का आयात जरुरी नहीं : पासवान

नई दिल्लीः खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने निकट भविष्य में चीनी के आयात की संभावना से इन्कार करते हुए आज कहा कि देश में पर्याप्त मात्रा में चीनी का भंडार है। पासवान ने संवाददाता सम्मेलन में चीनी के आयात को लेकर पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि उन्हें नहीं लगता कि अभी चीनी का आयात जरूरी है। उन्होंने कहा कि देश में पहले की चीनी का भंडार 70 लाख टन है, इसके अलावा 204 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है। एहतियात के तौर पर पांच लाख टन कच्ची चीनी का आयात भी किया गया है। कुल मिलाकर देश में 279 लाख टन चीनी का भंडार था।

उन्होंने कहा कि देश की जरूरतों को पूरा करने के बाद भी 40 से 42 लाख टन चीनी बच जाएगी और अक्टूबर महीने से नया गन्ना पिराई सत्र शुरू हो जाएगा, जिससे फिर से चीनी का उत्पादन शुरू हो जाएगा। देश में इस वर्ष गन्ने की फसल अच्छी स्थिति में है और राज्यों से गन्ने की पिराई कुछ पहले करने का अनुरोध किया जाएगा, जिससे देश में चीनी की कमी नहीं होगी। उल्लेखनीय है कि सरकार ने चीनी के आयात पर 50 प्रतिशत आयात शुल्क लगा रखा है।



English Summary: Import of sugar in future is not necessary: Paswan

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in