इफको की ऐप 'आई मंडी' से किसान अपने उत्पाद अच्छी कीमतों पर बेच सकेंगे, 5.5 करोड़ किसानों को मिलेगा लाभ

सहकारी क्षेत्र की विश्व की सबसे बड़ी उर्वरक उत्पादक कंपनी इफको किसानों के बेहतरी के लिए कई लगातार कार्य कर रहा है... इसी क्रम में किसानों को अधिक लाभ देने के लिए इफको ने सोशल ई-कॉमर्स ऐप इफको आई मंडी तथा एक वेब पोर्टल शुरू किया है... इफको आई मंडी से देश के लगभग 5.5 करोड़ किसानों को लाभ मिलेगा... इफको की सभी ई.कॉमर्स और डिजिटल गतिविधियां इफको आई मंडी प्लेटफार्म पर उपलब्ध कराई जाएंगी... आई मंडी, इफको की शत-प्रतिशत साझेदारी वाली सहयोगी कंपनी इफको ई बाजार लिमिटेड द्वारा सिंगापुर की प्रौद्योगिकी कंपनी आई मंडी प्राइवेट लिमिटेड के साथ मिलकर किया गया एक नीतिगत निवेश है... वहीं इसके साथ कृषि उद्योद तथा मोबाइल/ इंटरनेट प्रौद्योगिकी के क्षेत्र के अनुभवी और पेशेवर लोग इससे जुड़े हुए हैं... इस पहल के जरिए हर किसान तक डिजिटल प्रौद्योगिकी का लाभ पहुंचाना तथा ग्रामीण भारत में डिजिटल क्रांति लाना है...

इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. यू. एस. अवस्थी ने इस मौके पर कहा कि "आई मंडी कृषि आदानों, उत्पादों, उपभोक्ता वस्तुओं (एफएमसीजी), इलेक्ट्रॉनिक्स, ऋण तथा बीमा आदि की खरीद के लिए वस्तुएं एक ही स्थान पर उपलब्ध कराती है. यह खेतिहर समुदायों की सभी जरूरतों को पूरा करेगी तथा 5.5 करोड़ किसान इससे लाभान्वित होंगे.."

वहीं आई मंडी प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक वी.के. अग्रवाल ने कहा कि "इफको और आई मंडी इस बात से आश्वस्त हैं कि इस भारतीय सहकारी डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से हरेक घर, हरेक गांव में बड़े पैमाने पर सामाजिक बदलाव लाने में मदद मिलेगी तथा इसकी डिजिटल समावेशी प्रौद्योगिकी से एक करोड़ लोग सशक्त होंगे..."

किसान निकट भविष्य में इस एप की सहायता से अपने उत्पाद अच्छी कीमतों पर ऑनलाइन बेच सकेंगे... इसके साथ आई मंडी किसानों के वित्तीय सेवाओं जैसे ऋण, बीमा, इत्यादि अन्य सेवाओं में मदद मिलेगी। आई मंडी ऐप की यह खासियत है कि यह 2जी प्लस और 3जी प्लस दोनों ही प्रकार की तकनीक वाले स्मार्ट फोन पर काम करता है... इसमें हिन्दी और अंग्रेजी सहित भारत की 10 अन्य क्षेत्रीय भाषाओं को प्राथमितक्ता दी गई है और यह उसमें भी उपलब्ध होगी...  इसे ग्रामीण भारतीय उपभोक्ताओं को ध्यान में रखते हुए वैश्विक मानकों के अनुरूप विकसित किया गया है.

इसमें विभिन्न बिक्री केन्द्रों के माध्यम से लोगों की जरूरतें पूरा करने के अतिरिक्त किसानों को जोड़ने के लिए संवाद (चैट एवं कॉलिंग), मनोरंजन तथा सूचना/परामर्श आदि की सुविधा भी उपलब्ध है... इसकी सोशल और संवाद संबंधी सुविधा की मदद से विभिन्न क्षेत्रों के लोग एक ही प्लेटफार्म पर जुड़ सकेंगे.... लोग फोरम का चुनाव अपनी रुचि के अनुसार कर सकते हैं... लोग संबंधित विषय के विशेषज्ञों से बात कर सकते हैं तथा विभिन्न समस्याओं पर उनसे सलाह ले सकते हैं... साथ में वो एक दूसरे के साथ अपनी कामयाबी को भी साझा कर सकते हैं... इस परियोजना को व्यापक स्तर पर कार्यान्वित किया जाएगा. इफको के 55000 बिक्री केन्द्रों, 36000 सदस्य सहकारी समितियों, 30000 भंडार गृहों तथा 25 करोड़ ग्रामीण उपभोक्ताओं से जुड़कर आई मंडी ग्रामीण सोशल ई कॉमर्स क्षेत्र में भारत की सबसे बड़ी कंपनी बन जाएगी... लगभग 16000 पिन कोड के जरिए भारत का लगभग एक तिहाई हिस्सा इससे जुड़ेगा...

Comments