1. ख़बरें

पीएम किसान सम्मान निधि का उठाएं लाभ, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

अनवर हुसैन
अनवर हुसैन

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि केंद्र सरकार की एक ऐसी महत्वाकांक्षी योजना है, जिसका देश का प्रत्येक किसान लाभ उठा सकता है. किसानों की आर्थिक मदद के लिए यह कृषि योजना दिसंबर 2018 में शुरू की गई थी. इसमें 100 प्रतिशत फंड केंद्र का है जिसका उद्देश्य देश के किसानों को सलाना 6 हजार रुपए राशि देनी है. यह राशि किसानों के सीधे बैंक खातें में दी जाएगी. ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने और किसानों के सीधे बैंक खाते में रुपए देने की व्यवस्था होने से इसमें पूरी तरह पारदर्शिता है. इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान खुद भी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं.

इसलिए आज मैं यहां आपको पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ उठाने लिए ऑललाइन रजिस्ट्रेशन कराने के बारे में कुछ जरूरी जानकारी देना चाहूंगा ताकि किसान भाई इस तरीका को समझ कर अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन के लिए आगे बढ़ेंगे.. देश के समस्त किसानों को इस योजना का लाभ मिल सके यह कुछ हद तक संबंधित राज्य सरकारों की भूमिका पर भी निर्भर करता है इस संबंध में यहां एक जानकारी साझा करना चाहूंगा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य सरकार की कृषि योजना को पीएम किसान सम्मान निधि से बेहतर बताकर इसे अपने राज्य में लागू करने से इनकार कर दिया है. खैर, पश्चिम बंगाल इसका अपवाद है .लेकिन देश भर के किसान पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ उठाने के लिए स्वतंत्र हैं.

धीमी गति से ही सही पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ देश के किसानों को मिलना शुरू हो गया है. केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पिछले दिनों लॉकडाउन के मद्दे नजर किसानों और मजदूरों के लिए राहत पैकेज की घोषणा करते हुए इस बारे में भी जानकारी दी थी. वित्तमंत्री के मुताबिक प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 8.19 करोड़ लाभार्थियों को 200 रुपए की पहली किश्त की राशि उनके बैंक खाते में दी गई है. करीब 9 करोड़ किसानों के खाते में 16394 करोड़ की राशि चली गई है. इसके अतिरिक्त एनएसएपी योजना के तहत किसानों को प्रथम व दूसरी किश्त में 1405 करोड़ करके दो बार राशि दी गई. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत भी किसानों को करीब 3 हजार करोड़ की आर्थिक सहायता दी गई.

इस संबंध में यह यहां यह उल्लेख करना जरूरी है कि अब तो वे प्रवासी मजदूर भी इस कृषि योजना का लाभ पा सकते हैं जिनके नाम से गांव में खेती की जमीन है. लॉकडाउन के कारण गांव लौटे वैसे मजदूर भी पीएम किसान सम्मान निधि के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं जिनका नाम खेती की जमीन में दर्ज है.

रजिस्ट्रेशन करने का तरीका

यदि आप किसान हैं और इस योजना का लाभ पाने के लिए अपना नाम पंजीकृत कराना चाहते हैं तो आपको अपनी संबंधित राज्य सरकार द्वारा नामित स्थानीय पटवारी / राजस्व अधिकारी / नोडल अधिकारी (पीएम-किसान) से संपर्क करना होगा. हालांकि  किसानों का पंजीकरण करने के लिए कॉमन सर्विस सेंटर (CSCs) को भी अधिकृत किया गया है. मामूली शुल्क देकर आप कॉमन सर्विस सेंटर में जाकर भी पीएम किसमान सम्मान नीधि के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. इन स्रोतों के अलावा किसान योजना के सरकारी पोर्टल के होम पेज https://pmkisan.gov.in/ पर "किसान कॉर्नर" विकल्प के माध्यम से अपना पंजीकरण खुद भी कर सकते हैं.

सबसे पहले पीएम किसान योजना की अधिकृत वेबसाइट खोलें

होम पेज पर “किसान कॉर्नर” विकल्प खोजें

"किसान कॉर्नर" विकल्प पर क्लिक करें जहां एक ड्रॉप-डाउन मेनू दिखाई देगा.

"नया किसान पंजीकरण" विकल्प पर क्लिक करें जहां एक नई विंडो दिखाई देगी.

खुलने वाले फॉर्म को भरें, आपका आधार विवरण और कैप्चा भरना होगा.

"जारी रखें" अप्शन पर पर क्लिक करें.

यदि आप पहले से पंजीकृत हैं  तो आपका विवरण प्रदर्शित किया जाएगा.

लेकिन अगर यह आपका पहला पंजीकरण है तो डिस्प्ले होगा- "दिए गए विवरण के साथ रिकॉर्ड नहीं मिला"

आपको एक विकल्प भी मिलेगा जिसमें आपसे पूछा जाएगा कि क्या आप पीएम किसान पोर्टल पर पंजीकरण करना चाहते हैं.

"हाँ" पर क्लिक करें

एक नया पेज खुलेगा जिसमें संबंधित फॉर्म को भरना होगा

फ़ॉर्म में अपना व्यक्तिगत विवरण जैसे पाता, खेत और भूमि का रिकार्ड आदि संबंधित जानकारियां भरनी होगी.

पूरा फार्म भर लेने के बाद ‘सेव’ आप्शन पर क्ली कर दें. इस तरह पीएम किसान सम्मान निधि के लिए आपके रजिस्ट्रेन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.

ये खबर भी पढ़े: मजदूरों के पलायन का असर : इस राज्य के किसान करेंगे धान की सीधी बुवाई

English Summary: How to register in PM Kisan Yojana

Like this article?

Hey! I am अनवर हुसैन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News