News

यहां पर होती है काले रंग के सेब की खेती

आपने काले रंग का जामुन और अंगूर खाया होगा लेकिन यदि आपसे यह पूछा जाए कि आपने काले रंग के सेब को खाया है तो आप जरूर आश्चर्यचकित रह जाएंगे. जी हां मजेदार बात यही है कि काले रंग के अंगूर की तरह ही सेब का भी रंग काला होता है. वास्तव में इसका रंग गहरा बैगनी होता है, लेकिन पहली नजर में देखने पर यह काला ही लगता है. यह एक दुर्लभ प्रकार का सेब होता है जो कि बहुत ही कम पाया जाता है.

तिब्बत की पहाड़ी पर खेती

बता दें कि काले रंग के सेब को ब्लैक डायमंड कहते है। इसकी खेती तिब्बत की पहाड़ियों पर भी होती है. सेब की इस किस्म को ‘हुआ नियु’ कहा जाता है. इसे ‘चाइनीज रेड डिलिसियस’ के भी नाम से जाना जाता है. इस अनोखे सेब के अनोखे गहरे बैगनी रंग के पीछे तिब्बत के नाइंग- ची क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति है. चीन की कंपनी Dandong  tianluo sheng nong E-Commerce trade Co. 50 हेक्टेयर की जमीन पर इसकी खेती करती है. यह जमीन समुद्र तल से 3100 मीटर की ऊंचाई पर है. इस तरह के सेब की खेती के लिए एक आदर्श जगह यही है.

इन कारणों से ब्लैक डायमंड

चूंकि इस जगह का तापमान भी दिन और रात में काफी अलग होता है. दिन में फल-फूल को भरपूर मात्रा में सूर्य की रोशनी और अलट्रॉ वायलट किरणे मिलती है. इसी वजह से सेब का रंग गहरे लाल रंग से बदलते हुए बैंगनी कलर का हो जाता है. ब्लैंड डायमंड एप्पल की खेती करने वाली कंपनी की मार्केट डायरेक्टर का कहना है कि ‘इस सेब का स्ट्रक्चर काफी आकर्षक होता है यह ऐसा दिखता है जैसे कि सेब पर वैक्स लगा हो जो कि काफी चमकदार होता है.

2015 से शुरू हुई खेती

इस सेब की खेती वर्ष 2015 से शुरू हुई है. हालांकि तीन साल बाद भी चुनिंदा पेड़ों पर यह फल लग रहे है. इन सेबों की खपत मुख्य रूप से बीजिंग, शंघाई, गुआंगजौ और शेन्जेन के सुपरमार्केट में हो रही है. इसे आमतौर पर 6-8 सेब के गिफ्ट पैक में बेचा जाता है. एक ब्लैक डायमंड सेब की कीमत 50 युआन है.

किशन अग्रवाल, कृषि जागरण  



Share your comments