1. ख़बरें

लॉकडाउन और बारिश ने तोड़ी किसानों की कमर, गेहूं को भारी नुकसान

कोरोना के कारण एक तरफ जहां किसान फसलों की बिक्री न होने के कारण परेशान हैं, वहीं अचानक आई बरसात ने उन्हें मुश्किल में डाल दिया है. शनिवार दोपहर तक गर्मी रही, लेकिन शाम को मौसम अचानक बदल गया और कई राज्यों में तेज हवाओं के साथ बरसात होने लगी.

बरसात के कारण किसानों को काफी नुकसान हुआ. कई क्षेत्रों में रातभर बिजली गुल रही. जोधपुर में कई किसानों के खेतों में रखे फसलों को तूफान-बवंडर का सामना करना पड़ा. तेज आंधी के कारण जगह-जगह काट कर एकत्रित किए गए फसल हवा में उड़ गए और जो बचे वो अधिकतर बारिश से भीग गए. राजस्थान के अधिकांश जिलों में एक से दो घंटों तक बारिश और अंधड़ का दौर चलता रहा.

पहाड़ों पर शुरू हुई बर्फबारी

बता दें कि पहाड़ों पर बर्फबारी शुरू होने के कारण उत्तर भारत कई राज्यों में मौसम का मिजाज बदल गया है. दिल्ली-एनसीआर के कई क्षेत्रों में तो बारिश और ओलावृष्टि भी देखने को मिली. इस समय उत्तराखंड में पारा गिरा हुआ है, वहीं हिमाचल में भी मौसम ठंडा हो गया है. जिस कारण किसानों की मुश्किलें बढ़ गई है.

सोमवार तक फिर बारिश के आसार

मौसम विभाग के अनुसार सोमवार तक उत्तर भारत के कई क्षेत्रों में फिर से बारिश की संभावना है. हरियाणा-पंजाब में भी हल्की धूप खिलने के बाद बरसात हो सकती है, ऐसे में किसानों को सतर्क रहने की जरूरत है. सेब की खेती करने वाले की किसानों को ठंड के कारण सेटिंग में दिक्कत आ सकती है, वहीं गेहूं किसानों को भारी नुकसान हो सकता है.

क्या है किसानों की समस्या

तेज बरसात के कारण किसानों की चिंता बढ़ गई है. अधिकतर किसानों की उपज खेतों में खुले में रखी हुई है. ऐसे में अचानक मौसम के बदलने से फसलों को सुरक्षित रखने का कोई उपाय उन्हें समझ नहीं आ रहा है. लॉकडाउन के कारण मंडियों में भी बिक्री न के समान ही हो रही है.

English Summary: heavy loss of wheat crops due to rain know more about it

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News