News

गुरमीत सिंह भाटिया बने सीआईआई पंजाब स्टेट काउंसिल के चेयरमैन

अजूनी बायोटेक प्राईवेट लिमटेड के प्रबंध निदेशक व चेयरमैन गुरमीत सिंह भाटिया को सीआईआई पंजाब स्टेट काउंसिल का चेयरमैन चुना गया है। कैपिटल स्माल फाईनेंस बैंक के प्रबंध निदेशक सर्वजीत सिंह समरा को वाईस चेयरमैन चुना गया है। भाटिया को भारत सरकार का प्रतिष्ठिïत प्रसीडेंट अवार्ड ऑफ बेस्ट इंटरप्रीन्योर डा. एपीजे अब्दुल कलाम द्वारा दिया गया था। इसके साथ ही उन्हें अन्य कई अवार्ड से नवाजा जा चुका है जिनमें पंजाब के उद्योग विभाग द्वारा दिया जाने वाला एक्सीलेंस अवार्ड, पंजाब सरकार द्वारा दिया गया फस्र्ट क्वालिटी अवार्ड, उद्योग श्री अवार्ड आदि पीढी के उद्यमी के रूप में दिया जा चुका है।
वे 2003-2007 के बीच पंजाब प्लानिंग बोर्ड के सदस्य रह चुके हैं, साथ ही पंजाब इंडस्ट्री एसोसिएशन के 2003-2005 के बीच अध्यक्ष रह चुके हैं। मोहाली रोटरी क्लब के 1994-1995 के बीच प्रेसीडेंट, सेंटर फॉर इंटरनेशनल ट्रेड एंड इंडस्ट्री के 2004-2007 के बीच प्रेसीडेंट रह चुके हैं। गुरुनानक एजुकेशन सोसाईटी की गवर्निंग काउंसिल के सदस्य होने के साथ ही वे एजीके फाउंडेशन के मैनेजिंग ट्रस्टी तथा गुरु हरिकृष्ण एजुकेशन सोसायटी के ट्रस्टी भी हैं।  
सर्वजीत सिंह समरा को सीआईआई पंजाब स्टेट काउंसिल के वाईस चेयरमैन चुना गया है। सर्वजीत कैपिटल स्माल फाईनेंस बैंक के प्रबंध निदेशक हैं तथा इसके सर्वे सर्वा हैं। कैपिटल स्माल फाईनेंस बैंक देश में सबसे बड़े स्तर पर स्माल फाईनेंस बैंक हैं। बैंक पंजाब में कूपरथला, जालंधर, होशियार पुर आदि में पिछले 13 साल से काम कर रहा है। जनवरी 2013 मेंं आरबीआई ने बैंक को लुधियाना और अमृतसर में भी अपनी शाखा खोलने की अनुमति दे दी थी। बैंक मार्डन बैंकिंग सुविधाएं ग्रामीण क्षेत्र में प्रदान करता है। वर्तमान में बैंक की 39 ब्रांच हैं तथा बैंक का कुल व्यापार 2486 करोड़ का है और इसके 390000 संतुष्ट ग्राहक हैं। बैंक बिजनेस कॉरसपौंडेंट मॉडल के तहत ऐसे ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से आगे बढ़ रहा है जहां बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध नहीं है इसी के तहत १४ सुविधा केंद्र भी खोले गए हैं। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से सराहना मिलने के साथ ही बैंक को अवार्ड ऑफ एक्सीलेंस इन फाईनेंशियल रिर्पोटिंग से आईसीएआई द्वारा दो वर्ष तक नवाजा गया। बैंक को 2013 में असोचाम द्वारा सोशल बैंकिंग अवार्उ से भी नवाजा गया। 


Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in