1. ख़बरें

Kisan Panjikaran: अब उंगलियों की जगह मोबाइल ओटीपी से होगा किसान पंजीकरण

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Kisan Panjikaran

दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. इसके असर से लोगों को बचाने के लिए सरकार कई अहम कदम उठा रही है. हमारा देश भी इसकी चपेट में आ रहा है. कोरोना वायरसमें र इसकी चपेट में आ रहा है.  ग्रामीण क्षेत्रों में न फैल पाए, इसके लिए राज्य की सरकारें कई कदम उठा रही हैं. इसी कड़ी में राजस्थान के किसानों के लिए एक अहम खबर सामने आई है. दरअसल, अब किसानों का पंजीकरण मोबाइल पर आने वाले ओटीपी द्वारा कराया जाएगा. सरकार ने निर्देश दिए हैं कि इस प्रक्रिया का सावधानी से उपयोग किया जाए.

राजस्थान सरकार ने लगाई रोक

रबी फसलों को खरीदने के लिए समर्थन मूल्य योजना के तहत पंजीकरण करवाए जा रहे हैं. हमेशा की तरह किसानों का पंजीकरण बायोमैट्रिक से किया जाना था, लेकिन देश में तेजी से फैल रहे करोना वायरस की वजह से इस प्रक्रिया पर रोक लगाई गई है. बता दें कि किसान के पंजीकरण में अंगूठे को स्कैन करना पड़ता है, लेकिन इससे कोरोना वारयस फैलने की संभावना हो सकती है. यही मुख्य कारण है कि राज्य सरकार ने इस पर रोक लगा दी है.राज्य में सरसों और चने की समर्थन मूल्य पर खरीद चल रही है. इसके लिए 18 मार्च से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुके हैं. इसी दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण का फैलाव बढ़ता जा रहा है, इसलिए बायोमैट्रिक से होने वाले पंजीयन में परिवर्तन कर दिया गया है. अब किसानों के पंजीकरण मोबाइल पर आने वाली ओटीपी से होंगे.

Coronavirus

किसान किस तरह करवाएं पंजीकरण

किसान फसल का पंजीयन ई-मित्र से करवा सकते हैं. इसके लिए किसानों को उंगलियों के निशान की जगह मोबाइल नम्बर पर आने वाले एक कोड की जरूरत पड़ेगी. इस कोड के माध्यम से किसान समर्थन मूल्य पर चना और सरसों बेचने के लिए पंजीकरण कर सकते हैं.

किसान पंजीकरण का समय

किसान पंजीकरण सुबह 9 बजे से शुरू होकर शाम 7 बजे तक होगा. किसान की कृषि भूमि जिस तहसील में आती है, उसी तहसील में आने वाले खरीद केन्द्र का चयन रजिस्ट्रेशन में करना है.

OTP

किसान पंजीकरण के लिए जरूरी दस्तावेज़

  • आधार कार्ड

  • जनआधार कार्ड

  • फसल संबंधी दस्तावेज

  • खाते की पासबुक की फोटोकॉपी

  • गिरदावरी के पी-35 का क्रमांक और दिनांक

किसान पंजीकरण के लिए कितना पैसा दें

किसान पंजीकरण करवाने के लिए करीब 31 रुपये का भुगतान करना पड़ेगा.

अन्य जरूरी जानकारी

  • किसान को भामाशाह कार्ड से संबद्ध बैंक खाते का विवरण सही से जांच लेना चाहिए.

  • अगर कार्ड में बैंक खाते का विवरण गलत है, तो उसे पंजीकरण से पहले ठीक करा लें.

  • पंजीकरण के समय बैंक खाता संख्या जांच लें.

  • अपनी पंजीकरण सही ढंग से अपलोड करवाएं, जिससे भुगतान मिलने में कोई परेशानी न हो.

ये खबर भी पढ़ें: पशुपालकों के लिए दूध की चक्की मशीन की जानकारी, सरकार दे सकती है 50 प्रतिशत की सब्सिडी

English Summary: farmer registration will be done through mobile otp

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News