घर पर खेतीकर कमाएं पैसा, यहां मिल रही है ट्रेनिंग

पिछले कुछ सालों में अर्बन फार्मिंग का कंसेप्ट बढ़ा है. अर्बन फार्मिंग का आशय शहरों में की जाने वाली खेती से है. यानी कि आप अपने घर में खेती करके न केवल ऑर्गेनिक फूड खा सकते हैं, बल्कि इसका बिजनेस भी कर सकते हैं. लेकिन अर्बन फार्मिंग करना आसान नहीं है. अगर आप अर्बन फार्मिंग सीखना चाहते हैं तो सरकारी संस्थान निसबड द्वारा दो दिन की ट्रेनिंग कराई जा रही है. आज हम आपको इस ट्रेनिंग के बारे में विस्तार से बता रहे हैं. साथ ही, यह भी बताएंगे कि अगर आप यह ट्रेनिंग लेना चाहते हैं तो आपको क्या करना होगा?

बता दें कि अर्बन फार्मिंग चार तरह की होती है

1. टेरस फार्मिंग (छत पर खेती)

2. बालकनी फार्मिंग

3. वर्टिकल फार्मिंग

4. एक्वापोनिक्स

ट्रेनिंग में क्या होता है

ट्रेनिंग के दौरान आपको चारों तरह की फार्मिंग की बारीकियां से रू-ब-रू करवाया जाता है. जैसे कि किस तरह के इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत पड़ेगी, इक्विपमेंट्स की कीमत क्या रहेगी, एक टैरस फार्म कैसे बनेगा इसके अलावा छत पर खेती के फायदे और इसकी चुनौतियां क्या रहेंगी

कब है ट्रेनिंग ?

अर्बन फार्मिंग की ट्रेनिंग 15 व 16 दिसंबर को वीकेंड पर दी जाएगी. ट्रेनिंग नोएडा के सेक्टर-62 स्थित निसबड के सेंटर पर दी जाएगी. निसबड, मिनिस्ट्री ऑफ स्किल डेवलपमेंट और एंटरप्रेन्योरिशप के तहत काम करने वाली ऑटोनोमस इंस्टिट्यूट है. अर्बन फार्मिंग की दो दिन की ट्रेनिंग की फीस 3000 रुपए रखी गई है. इसके अलावा आपको 18 फीसदी जीएसटी भी देना होगा.

अगर आप भी अर्बन फार्मिंग की ट्रेनिंग लेना चाहते हैं तो आप नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करके सारी जानकारी ले सकते हैं.

https://www.niesbud.nic.in/docs/2018-19/Programmes/December/edp-on-urban-farming-green-business-for-entrepreneurs-15-dec-niesbud.pdf

प्रभाकर मिश्र,कृषि जागरण

Comments