1. ख़बरें

कर्ज माफी : राज्य सरकार का बड़ा फैसला, किसानों का 2 लाख तक का कृषि कर्ज करेगी माफ !

Kisan

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. इस दौरान सभी लोगों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ा रहा है. लेकिन इनमें से सबसे ज्यादा किसानों को करना पड़ रहा है. हालांकि, केंद्र व राज्य सरकार किसानों को राहत देने के लिए अभी तक कई पहल कर चुकी हैं. इसी क्रम में लॉकडाउन के बाद किसानों का कृषि लोन माफ किया जाएगा. दरअसल दो दिवसीय दौरे पर बेरमो आए झारखंड के वित्त मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव ने ऐलान किया कि राज्य के किसानों का 2 लाख तक का कृषि कर्ज माफ किया जाएगा.किसी का 25 हजार है तो किसी का 60 हजार रुपये है, ऐसे में हिसाब बैठाया जा रहा है.किसानों के आंकड़े तैयार होते ही कर्ज माफी की घोषणा कर दी जाएगी.इसके लिए हमारे पास पैसे का जुगाड़ हो गया है.

बता दें कि वित्त मंत्री पेटरवार स्थित चांदो पंचायत में आयोजित बूथ स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.इस दौरान पार्टी के 10 पंचायतों के बूथ स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे.कहा कि पूर्व मंत्री सह दिवंगत बेरमो विधायक राजेंद्र प्रसाद सिंह के निधन के बाद दोबारा बेरमो विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस का ही विधायक जीतेगा.डॉ. उरांव ने अन्य कई महत्वपूर्ण बातें कही.इस दौरान उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र भी दिया.

karjmafi

100 यूनिट तक बिजली मुफ्त में दी जाएगी

इसके अलावा वित्त मंत्री ने कहा कि सभी को 100 यूनिट तक बिजली नि:शुल्क उपलब्ध कराई जाएगी.इसके लिए भी काम चल रहा है.सरकार जो-जो कह रही है, उसे हर हाल में पूरा करेगी.

15 लाख परिवारों के बीच अनाज बांटेगे 

उरांव ने कहा कि सरकार राज्य की जनता के प्रति काफी सजग है.15 लाख परिवारों के बीच अनाज बांटने की योजना बना ली गयी है.अनाज से कोई भी परिवार वंचित नहीं रहेगा, सरकार सभी को देख रही है.

English Summary: Debt waiver: Jharkhand government will forgive farm loans of up to 2 lakh farmers!

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News