हरियाणा की मंडियों में हो रही कपास की धांधली...

देश के बड़े कपास उत्पादक राज्य हरियाणा की मंडियों में कपास की खरीद जारी है. हरियाणा में कपास का मूल्य 3775 से 3790 प्रति मन है. कपास के रेट कम होने से व्यापारी परेशान हैं. मंडियों में कपास की आमद भी कमजोर है. इसके मूल्य में कोई खास तेजी नजर नहीं आ रही है. सिरसा जिनर्स एसोसिएशन का कहना है कि हरियाणा में कपास की बिक्री में धांधली हो रही है. इस सन्दर्भ में सिरसा कॉटन जिनर्स एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री और चीफ एडमिनिस्ट्रेटर मार्केटिंग बोर्ड को लिखित शिकायत भेजी है. एसोसिएशन ने कहा है कि हरियाणा में कपास दो नंबर से बिक रहा है.

इस एसोसिएशन के अधिकारीयों का कहना है कि कपास फैक्टरियों के बिलों की मार्केट कमेटी जांच करे तो इससे स्पष्ट हो जाएगा कि किन कपास  फैक्टरियों ने बड़े स्तर पर मार्केट फीस व सेल्स टैक्स की चोरी की है. कॉटन जिनर्स एसोसिएशन सिरसा के प्रमुख गुरचरण गर्ग का कहना है कि हरियाणा में जिन कताई मिलों के पास रूई गांठों के बिलों के साथ मार्केट कमेटी का ऑनलाइन गेट पास नहीं लगा होता वह जाली होता है। कताई मिलों को रूई गांठों के बिलों के साथ मार्केट कमेटी का ऑन लाइन गेट पास लेना आवश्यक है. इस परेशानी को दूर करने के लिए कॉटन जिनर्स एसोसिएशन सिरसा ने समाधान की मांग की है . 

 

Comments