1. ख़बरें

कोरोना वायरस का खौफ : चिकन से भी महंगा बिक रहा है कटहल, कीमत जानकर हैरान रह जाएंगे...!

कोरोना वायरस दुनिया भर में अब तक 4 हजार लोगों की जान ले चुका है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक कोरोना वायरस अभी तक 100 देशों में फैल चुका है. और अब तक इस वायरस से विश्वभर में 4300 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. इसलिए इसे महामारी कहा जा सकता है. भारत में भी 50 से ज्यादा कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज मिले हैं. नतीजतन देशभर में इस जानलेवा वायरस को लेकर खौफ है. कोरोना वायरस का खौफ लोगों के मन में इस कदर है कि मटन और चिकन से उन्होंने खाना ही छोड़ दिया है. वहीं, मटन और चिकन का लोगों ने पर्याय भी खोज लिया है. लोग अब मांस खाना छोड़कर शाकाहार अपना रहे हैं और सब्जियों में उनकी पहली पसंद बन गया है कटहल.

न्यूज़ एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, बाज़ारों में अब कटहल चिकन के अपेक्षा ज्यादा महंगा बिक रहा है. मौजूदा वक्त में चिकन का दाम जहां 80 रुपये किलो है वहीं अब कटहल 120 रुपये प्रति किलो बिक रहा है. गौरतलब है कि कोरोना वायरस के अलावा बर्ड फ्लू भी देश में फैल रहा है. नतीजतन लोग मांस खाना छोड़कर शाकाहार अपना रहे हैं. इस बारे में दिल्ली के रहने वाले आलोक ने बताया कि हमारे यहां आमतौर पर चिकन या मटन खाया जाता है, लेकिन कोरोना वायरस के फैलने के बाद पूरे परिवार ने मांसाहार से दूरी बना ली है. आलोक ने आगे बताया कि हमने मासांहार का विकल्प खोज लिया है. अब हम कटहल बिरयानी खा रहे हैं और परिवार के सदस्यों को बिरयानी काफी पसंद भी आ रही है.

बता दें, किसी भी बीमारी को महामारी तब घोषित किया जाता है जब वह एक से ज्यादा देशों में फैल जाए और लोगों के सामने जीवन का संकट पैदा कर दे. बीते कुछ दिनों में कोरोना का कहर विश्व भर में देखने को मिला है. यूरोपीय देश इटली ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए ही अपने यहां पूरी तरह लॉक डाउन घोषित कर दिया है. वहीं खाड़ी देशों ने भी अपने यहां विदेशियों के आने-जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है. भारत में भी 15 अप्रैल तक विदेशियों की एंट्री को बैन कर दिया गया है.

English Summary: Corona virus: Chicken is being sold even more expensive, you will be surprised to know the price…!

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News