News

पूर्ण इलेक्ट्रिक भारत बनाने की दिशा में इ-वाहन के लिए तकनीकी विकसित कर रही बॉश इंडिया

बॉश इंडिया लिमिटेड ने भारत सरकार द्वारा 2030 तक पूरी तरह से इलेक्ट्रिक भारत बनाए जाने के उद्देश्य को पूरा करने के लिए देश में इलेक्ट्रॉनिक ऑटोमोबाइल्स के लिए बेहतर तकनीकी प्रदान करने का दावा किया है। इस बीच कंपनी का मानना है कि देश में इस प्रयास से लोगों को डीजल या पेट्रोल से चलने वाले ऑटोमोबाइल्स की जगह इलेक्ट्रिक वाहनों का एक अच्छा विकल्प मिल सकेगा।

इस दौरान कंपनी ने नई दिल्ली में एक प्रेस कांफ्रेंस भी आयोजित की साथ ही एक इलेक्ट्रिक कार का डेमो भी दिखाया गया। कंपनी 7 से 10 फरवरी के मध्य ऑटो इंडिया एक्सपो ( ग्रेटर नोएडा) में अपनी आधुनिक तकनीकी युक्त ऑटोमोबाइल्स (वाहनों) का प्रदर्शनी भी आयोजित कर रही है।

बॉश कंपनी भारत सरकार द्वारा 2030 तक देश में इलेक्ट्रॉनिक भारत बनाने का सपने के पक्ष में अपनी तकनीकों के साथ हर एक जगह इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के प्रचलन को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है।

कंपनी के मैनेजिंग डॉयरेक्टर सौमित्र भट्टाचार्या ने कहा कि कंपनी सीधे-सीधे वाहनों का निर्माण न करके निर्माता कंपनियों को अपनी आधुनिक तकनीकियों की सुविधा प्रदान कर रही है। हम भारत सरकार को धन्यवाद देते हैं कि जैसे-जैसे आज के दौर में इलेक्ट्रॉनिक वाहनों की मांग में वृद्धि हो रही ऐसे में उन्होंने एक नई मुहिम की शुरु की है।

भारतीय तकनीकियों व मांग के अनुसार निर्मित किए गए वाहन का प्रदर्शन बॉश टेक्नालॉजी एक्सोपोजिशन 2018 में किया जाएगा। इन इलेक्ट्रॉनिक वाहनों का भारत में प्रचलन बढ़ाने के लिए कंपनी कई एक स्थानीय संगठनों के साथ कार्य करेगी। हम शहरों में परिवहन को और आसान बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

सभी वाहन निर्माताओं कंपनियों से हमारा अनुरोध है कि इ-वाहन का अधिक से अधिक प्रचलन बढ़ाने के लिए वह प्रयास करें। क्योंकि आज के समय में इलेक्ट्रॉनिक वाहनों की बढ़ती मांग के फलस्वरूप ग्राहकों को अच्छी गुणवत्तायुक्त सवारी प्रदान की जा सके। इस दिशा में बॉश कंपनी ने हल्के वाहनों के लिए 0.25 से 20 किलोवाट क्षमता के इ-सकूटर्स के लिए तकनीकी प्रदान की है जो कि पांच सेकेंड में ही 45 किलोमीटर तक त्वरण प्राप्त कर सकते हैं।  

इस दौरान कंपनी के सी.टी.ओ व डायरेक्टर जॉन. ओ. राल ने भी कांफ्रेंस को संबोधित किया और जानकारी दी कि बॉश लिमिटेड भारत में इ-वाहन का दौर जोर शोर से शुरु करने के लिए कंपनी अच्छी गुणवत्तायुक्त तकनीकी विकसित कर रही है। इसे परिवहन को आसान बनाया जा सकेगा।



Share your comments