News

BJP मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जीवीएल नरसिम्हा राव पर फेंका गया जूता

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) 2019 के दूसरे चरण के तहत 11 राज्य और एक केंद्र शासित प्रदेश की 95 सीटों पर मतदान जारी हैं. राजनीतिक गलियारों में भी राजनीतिक बयानबाजी जारी है. इसी बीच आज भाजपा प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव पर जूता फेंककर हमला किया गया. जब यह घटना हुई तब प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव और भूपेंद्र यादव, मध्यप्रदेश से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा पर भाजपा हेडक्वॉर्टर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे.  हालांकि, जूता फेंकने वाले शख्स को तुरंत वहां पर मौजूद सुरक्षा कर्मचारियों ने गिरफ़्तार कर लिया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आरोपी शख्स का नाम शक्ति भार्गव है और वो कानपुर का रहने वाला है. पेशे से वह डॉक्टर हैं. पुलिस फिलहाल आरोपी शक्ति भार्गव को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.

वहीं भाजपा प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने मीडिया कहा कि बाल-बाल बचे. जूता नहीं लगा था, जिसने जूता फेंका इसकी जानकारी ली जा रही है. दरअसल भूपेंद्र यादव बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के ट्वीट को लेकर बयान दे रहे थे. उसके बाद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को लेकर बयान दिया गया. इसके ठीक बाद एक शख्स उठा और भूपेन्द्र यादव-जीवीएल नरसिम्हा राव की ओर जूता फेंक दिया. इसके बाद वहां पर अचानक से अफरातफरी मच गई. प्रेस कांफ्रेंस के मौके पर मौजूद संवाददाताओं ने जब आरोपी शक्ति भार्गव से जूता फेंकने की वजह पूछी तो उसने कोई जवाब नहीं दिया और अपनी जेब से उसने कुछ विजिटिंग कार्ड उछाला. जिस पर शक्ति भार्गव का जिक्र है.

कौन है शक्ति भार्गव

खबरों के मुताबिक, शक्ति भार्गव के फेसबुक प्रोफाइल के मुताबिक शक्ति भार्गव कानपुर के रहने वाले हैं. भार्गव का आरोप है कि भाजपा सरकार ने करप्शन के खिलाफ कोई आवाज नहीं उठाई. फेसबुक पोस्ट में उन्होंने खुद को विसल ब्लोअर बताया है.  डॉक्टर से रियल स्टेट कारोबारी बने भार्गव ने ब्रिटिश इंडिया कॉर्पोरेशन की कई जमीन और बंगले खरीदे. जमीन के कई केसों में भार्गव के खिलाफ सीबीआई जांच चल रही है. कुछ महीने पहले भार्गव के ठिकानों पर आयकर विभाग के छापे भी पड़े थे.



Share your comments