News

इस 'विश्व मृदा दिवस' मृदा प्रदूषण का समाधान बनें'

मृदा हमारे पर्यावरण का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. यह पौधों, जानवरों, चट्टानों, भूमिगत, और नदियों के रूप में महत्वपूर्ण है. मृदा पौधों की प्रजातियों के वितरण को प्रभावित करता है और जीवों की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए एक आवास प्रदान करता है.

विश्व मृदा दिवस हर साल 5 दिसंबर को मनाया जाता है. इंटरनेशनल यूनियन ऑफ सॉइल साइंसेज (आईयूएसएस) ने वर्ष 2002 में पारिस्थितिकी तंत्र के एक महत्वपूर्ण घटक के रूप में और मानव कल्याण के लिए एक अनिवार्य योगदानकर्ता के रूप में मिट्टी के महत्व को पहचानने के लिए 'विश्व मृदा दिवस' के रूप में 5 दिसंबर को एक प्रस्ताव अपनाया. थाईलैंड के नेतृत्व और मार्गदर्शन के तहत और वैश्विक मृदा साझेदारी के ढांचे के भीतर, खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) ने विश्व मृदा दिवस की आधिकारिक स्थापना को विश्वव्यापी जागरूकता बढ़ाने के मंच के रूप में समर्थन दिया.

विश्व मृदा दिवस 2018 का विषय - 'मृदा प्रदूषण का समाधान बनना'

हमने अपने पृथ्वी पर किए गए कई बदलावों के कारण, कुछ प्रभाव लगभग अदृश्य हैं, और मिट्टी प्रदूषण इसका एक बहुत अच्छा उदाहरण है. इसलिए 'मृदा प्रदूषण का समाधान बनें' अभियान लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाने का इरादा रखता है और उन्हें मृदा प्रदूषण रोकने के लिए कहता है. वर्तमान में प्रदूषण एक बड़ी बचिंता, जो मिट्टी को भी प्रभावित कर रही है. मृदा प्रदूषण एक छिपा खतरा है. यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि दुनिया भर में मिट्टी का एक तिहाई पहले से ही खराब हो गया है और हम इस छिपे खतरे के कारण और अधिक खो सकते हैं. बढ़ती आबादी के साथ 2050 तक 9 बिलियन तक पहुंचने का अनुमान है, मिट्टी प्रदूषण भी बढ़ेगा. इसलिए हम कह सकते हैं कि मिट्टी प्रदूषण एक वैश्विक समस्या है, जो मिट्टी को कम करता है, जिस हवा में हम सांस लेते हैं, वह पानी जिसे हम पीते हैं और खाना खाते हैं.

मृदा प्रदूषण मूल रूप से उच्च सांद्रता में मिट्टी में जहरीले रसायनों की उपस्थिति है, जो मानव स्वास्थ्य के साथ-साथ पारिस्थितिक तंत्र को भी ख़राब है. मृदा प्रदूषण को निम्नलिखित तरीकों से रोका जा सकता है:

जैव उर्वरकों और जैव कीटनाशकों का उपयोग और प्रचार करके जहरीले अपशिष्ट को करना चाहिए.

पॉलिथिन के उपयोग को रोकने से कीटनाशकों का उपयोग और निपटान करने के तरीके के बारे में अधिक ध्यान देकर इंजन तेल और घरेलू उत्पादों के उपयोग को कम करके जिन्हें मिट्टी प्रदूषक भी माना जाता है.

वनों की कटाई को रोकने में मदद के लिए पुन: प्रयोज्य कंटेनर और कपास बैग का उपयोग करके कंपोस्टिंग का अभ्यास करना चाहिए.

ऐसी ही ख़ास ख़बरों की जानकारियों को पाने के लिए आप हमारी वेबसाइट पर क्लिक करे -

मनीशा शर्मा, कृषि जागरण

निष्कर्ष निकालने के लिए, मृदा मानव जाति के अस्तित्व के लिए महत्वपूर्ण है। लेकिन, क्षरण और प्रदूषण तेजी से मिट्टी को कम कर सकता है इसलिए हमें हमेशा मिट्टी को संरक्षित करने के साथ-साथ प्रदूषण से इसकी रक्षा करने की कोशिश करनी चाहिए, आने वाली पीढ़ियों के लिए पारिस्थितिक तंत्र को बनाए रखना चाहिए.



English Summary: Become a solution for this 'World Soil Day' Soil Pollution

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in