1. ख़बरें

कृषि मंत्री ने विभागीय योजनाओं का लिया जायजा…

बिहार के कृषि मंत्री डॉ० प्रेम कुमार द्वारा कृषि विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की वास्तविक स्थिति की जानकारी प्राप्त करने तथा किसानों की समस्याओं से रूबरू होने के लिए पटना जिला के विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण एवं निरीक्षण किया। क्षेत्र के भ्रमण में कृषि मंत्री द्वारा नौबतपुर प्रखण्ड में नवनिर्मित ई-किसान भवन का उद्घाटन किया गया। ई-किसान भवन के उद्घाटन के क्रम में भवन के निर्माण में कुछ तकनीकि त्रुटियाँ पाई गई, जिसके निराकरण हेतु संबंधित पदाधिकारियों को निदेष दिया।

साथ ही, मौके पर उपस्थित उप निदेशक (कृषि अभियंत्रण) भूमि संचालन, पटना आलोक कुमार सिंह को निर्देश दिया कि पटना जिला में निर्मित/निर्माणाधीन सभी ई-किसान भवनों के निर्माण में विभाग द्वारा निर्धारित मानक एवं प्राक्कलन के अनुरूप निर्माण हो रहा है या नहीं इस संबंध में आवश्यक जाँच कर जाँच प्रतिवेदन 15 दिनों के अन्दर उपलब्ध कराया जाय। साथ ही, जिला पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि ई-किसान भवनों को हस्तगत करने के पूर्व यह सुनिश्चित करें कि भवन का निर्माण मानक के अनुरूप हुआ है। मानक एवं गुणवत्ता के संबंध में पूरी तरह संतुष्ट होने के उपरांत ही भवनों का हस्तांतरण किया जाय।

क्षेत्र भ्रमण के दौरान कृषि प्रक्षेत्रों में किये जा रहे बीज उत्पादन के कार्य का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में पाया गया कि खरीफ मौसम में धान के बीज का उत्पादन किया गया तथा उत्पादित बीज को गोदाम में भंडारित किया गया। इस क्रम में प्रक्षेत्र से संबंधित अनुमंडल कृषि पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि बीज बहुत ही संवेदनषील/महत्त्वपूर्ण अवयव है। फलस्वरूप इसे समुचित एवं वैज्ञानिक ढंग से रख-रखाव की आवश्यकता है इसलिए बीजों के भंडारण में पूरी सावधानी बरती जाय। अनुमंडल कृषि पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि बीजों को प्रक्षेत्र के गोदाम में अधिक दिनों तक रखने से इसके खराब होने की संभावना हो सकती है। इसलिए इसे बिहार राज्य बीज निगम द्वारा जितना जल्द हो सके उठाव कर लिया जाय। इस संबंध में मंत्री ने बिहार राज्य बीज निगम के प्रबंध निदेशक को राज्य के सभी प्रक्षेत्रों में उत्पादित बीजों का अविलम्ब उठाव करने का निर्देश दिया। माननीय मंत्री ने उद्यान निदेशालय के सहायता से स्थापित पॉलीहाउस में किये जा रहे गुलाब एवं जरवेरा के फूल की खेती का भी निरीक्षण किया।

क्षेत्र भ्रमण के क्रम में कुछ किसानों द्वारा डीजल अनुदान का भुगतान नहीं होने, अधिक मूल्य पर उर्वरकों की बिक्री एवं उपादानों के अनुदान भुगतान में विलम्ब की शिकायत  माननीय मंत्री से की गई। माननीय मंत्री द्वारा मौके पर ही संयुक्त निदेशक,  पटना प्रमंडल, पटना की अध्यक्षता में उर्वरक के राज्य नोडल पदाधिकारी एवं उप निदेशक प्रक्षेत्र का त्रि-सदस्यीय जाँच दल गठित कर मामले की एक सप्ताह के अन्दर जाँच करते हुए समस्याओं का निराकरण करने का निदेश दिया। माननीय मंत्री ने किसानों को आश्वस्त किया कि सरकार किसानों के बेहतरी के लिए कृत-संकल्पित है। किसानों के हित में चलाई जा रही योजनाओं का लाभ हर हाल में अंतिम छोर पर स्थित अन्नदाता किसान भाईयों एवं बहनों तक पहुँचाना हमारा लक्ष्य है।

क्षेत्र भ्रमण के दौरान माननीय मंत्री के साथ रवीन्द्र नाथ राय, विशेष सचिव, कृषि विभाग, गणेश राम, निदेशक,  बामेती, नरेन्द्र कुमार लोहानी, उप निदेषक (कृषि अभियंत्रण), जिला कृषि पदाधिकारी, पटना, जिला उद्यान पदाधिकारी, पटना, उप निदेशक (कृषि अभियंत्रण) भूमि संरक्षण, पटना अनुमण्डल कृषि पदाधिकारी, दानापुर एवं जिला में पदस्थापित कृषि कर्मी उपस्थित थे।

English Summary: Agriculture Minister takes departmental plans ...

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News