कृषि शिक्षा बजट में 47.4 प्रतिशत की वृद्धि : राधामोहन

केंद्रीय कृषि एवं कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने राष्ट्रीय कृषि शिक्षा दिवस पर संबोधित करते हुए कहा भारत सरकार ने इस वर्ष 47.4 प्रतिशत की वृद्धि की है। ज्ञात हो कि वह राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्दालय पूसा समस्तीपुर में बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि बच्चों से लेकर नौजवान तक कृषि स्कूली बच्चों से लेकर नौजवानों को कृषि शिक्षा के प्रति आकर्षित करना हमारा मुख्य उद्देश्य है| जिसके मद्देनज़र भारत सरकार ने कृषि से संबंधित अनेक राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाना शुरू किया है।

उल्लेखनीय है कि 3 दिसंबर को भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद का जन्मदिवस मनाया जाता है, इस दिन को कृषि शिक्षा दिवस के रूप में मनाने के फैसला दो वर्ष पूर्व लिया गया था। इस उपलक्ष्य पर देश के कृषि विश्वविद्दालयों में भव्य आयोजन किए जा रहें हैं।

सिंह के मुताबिक केंद्र सरकार कृषि एवं संबद्ध विषयों के स्नातकों को नई दिशा और उनमें उद्यमिता विकास और रोजगार सुनिश्चित करने के लिए स्टूडेंट रेडी कार्यक्रम की शुरुआत की गई है। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य कृषि स्नातक छात्रों को शैक्षणिक अध्ययन के दौरान हुनरमंद बनाते हुए उन्हें रोजगार के अनुकूल प्रशिक्षण देना है। इसके अंतर्गत विद्यार्थियों को स्‍नातक डिग्री के चौथे वर्ष में समग्र कौशल विकास व किसानों के साथ काम करने का भी प्रावधान है। इसके अतिरिक्त उत्पादन इकाइयों में भी प्रशिक्षण की व्यवस्था को व्यापक रूप दिया गया है। स्टूडेंट रेडी के अंतर्गत विद्यार्थियों को दिए जाने वाले परिलब्धियों को रुपये 750/- से बढाकर रुपये 3000/- प्रति माह किया गया है|

Comments