News

कृषि मंत्री ने रखी कृषि महाविद्यालय की आधारशिला

मोदी सरकार के चार साल पूरा होने पर शनिवार को पूर्वी चंपारण को बड़ा सौगात मिला है. पीपराकोठी के कृषि विज्ञान केंद्र परिसर में पंडित दीनदयाल उपाध्याय बागवानी एवं वानिकी महाविद्यालय की आधारशिला रखी गई. महाविद्यालय के प्रशासनिक भवन और अन्य भवनों का शिलान्यास केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह ने किया.

इस अवसर पर आयोजित किसान सम्मेलन को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि महाविद्यालय के तीन विशाल भवनों के लिए पहले किस्त की 16 करोड़ रुपए का आवंटन कृषि मंत्रालय ने किया है और इन भवनों के निर्माण में 41 करोड़ रुपए की लागत आएगी. उन्होंने कहा कि एक साल के अंदर भवन का निर्माण कार्य पूरा होगा और छह महीने के अंदर महाविद्यालय के प्रशासनिक भवन बनेगा, जिसका उद्घाटन इसी साल किया जाएगा.

वहीं, राज्य सरकार के पर्यटन मंत्री प्रमोद ने कहा कि चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष के समापन के अवसर पर केंद्र सरकार ने दो बड़े तोहफे मोतिहारी को दिए हैं. पहला महात्मा गांधी समेकित कृषि केंद्र और दूसरा पंडित दीनदयाल उपाध्याय बागवानी एवं वानिकी महाविद्यालय.

राजेंद्र कृषि केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति रमेश चंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि पहला सत्र अगस्त महीने से शुरू होगा. पहले सत्र में 80 छात्रों का नामाकंन होगा. पीपराकोठी में महाविद्यालय के भवन के निर्माण के बाद कृषि से जुड़ी कई विभागों की पढ़ाई शुरू होगी.



Share your comments