बाल फिल्म "समर कैंप" के बाल कलाकारों के साथ कृषि जागरण

बहुत दिन के बाद बच्चों की फिल्म "समर कैंप" के प्रदर्शन की सुगबुहाट सी हुई. अवसर था फिल्म का पोस्टर और ट्रेलर रिलीज़ का. मजेदार बात यह थी और कौतूहल भी की मुख्य अतिथि थी कृष्णा राज, राज्य मंत्री, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय.

फिल्म समर कैंप की खास बात यह है कि इसमें 150 से जयादा  नए कलाकार बच्चे, जिनमे किसान परिवारों से भी सिरसा, महाराष्ट्र के लातूर, और पास के ग्रामीण इलाकों से आये बच्चो ने पहली दफा किसी भी फिल्म में काम किया.

कृषि राज्य मंत्री कृष्णा राज ने किसान परिवार के बच्चों का फिल्म में काम करने और उनके दवारा अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन पर संतोष व्यक्त करते हुए प्रसंशा जाहिर की. उन्होंने कहा कि यह ख़ुशी की बात है कि यह फिल्म बच्चों के साहस और मुख्य धारा से जुड़ने कि एक प्रतीक फिल्म है.

आशा है कि फिल्म अक्टूबर-नवंबर में रिलीज़ होगी. शायद 14 नवम्बर, बाल दिवस पर और टैक्स फ्री भी हो सकती है.

फिल्म में एक आश्रम के सीधे और सच्चे बाबा के रूप में पृथवी जुत्शी ने काम किया है और विलेन के रूप में चालबाज़ और धोखेबाज़ बाबा हेमंत पांडेय ने गुरु घंटाल का चरित्र निभाया है. फिल्म का निर्देशन कुणाल ने किया है.

इस अवसर पर हेमंत पांडेय ने नए कलाकारों जिनमे किसान परिवारों से आये बच्चो को भी आमंत्रित पत्रकारों से मिलवाया और बाल कलाकारों कि तारीफ भी की पहली दफा काम करने के बावजूद भी ऐसा नहीं लगा कि वह नए कलाकार हैं.

फिल्म के डायरेक्टर कुणाल, बाल कलाकारों  और हेमंत पांडेय ने कृषि जागरण और एग्रीकल्चर वर्ल्ड कि प्रतियों के साथ भी एक पोज़ दिया.

जिस तरह से कृषि जागरण 12 भाषाओँ के साथ 23 पत्रिकाओं के रूप में पूरे भारत में किसान परिवारों कि सेवा में लगी है उसी तरह से यह बल फिल्म "समर कैंप: भी पूरे भारत में सभी भाषाओँ  के बच्चों के बीच काफी पसंद की जाएगी. इसी आशा के साथ इस बाल फिल्म को कृषि जागरण कि शुभ कामनाये.

 

चंद्र मोहन, कृषि जागरण

Comments