MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

बटाई एवं ठेके पर खेती करने वालों को आसानी से मिलेगा ऋण, सरकार ने बजट में दी नई सौगात

अगर आप जमीन को बंटाई पर लेकर खेती कर रहे हैं या फिर किराए पर खेती कर रहे हैं तो आपको ऋण लेने के लिए दिक्क्तों का सामना नहीं करना पड़ेगा. किसान भाइयों इस बजट में “Model Land License Cultivator Act” की भी घोषणा की गई है. जिसके माध्यंम से बंटाईदार तथा जमीन को किराए पर लेकर खेती करने वाले छोटे किसानों को भी संस्थानगत ऋण व्यावस्था का लाभ मिल सकेगा. इसके लिए नीति आयोग राज्या सरकारों के साथ मिलकर आवश्यभक कार्यवाई करेगा.

अगर आप जमीन को बंटाई पर लेकर खेती कर रहे हैं या फिर किराए पर खेती कर रहे हैं तो आपको ऋण लेने के लिए दिक्क्तों का सामना नहीं करना पड़ेगा. किसान भाइयों इस बजट में “Model Land License Cultivator Act” की भी घोषणा की गई है. जिसके माध्‍यम से बंटाईदार तथा जमीन को किराए पर लेकर खेती करने वाले छोटे किसानों को भी संस्‍थागत ऋण व्‍यवस्‍था का लाभ मिल सकेगा. इसके लिए नीति आयोग राज्‍य सरकारों के साथ मिलकर आवश्‍यक कार्यवाई करेगा.

इसके तहत किसानों को ऋण लेने के लिए नए प्रावधान लाए जाएंगें. जिससे किसानों को खेती के लिए ऋण मुहैया कराया जा सकेगा. इससे बटाई एवं ठेके पर खेती करने वाले किसानों को लाभ मिलेगा. यानिकि अब इन किसानों को ऋण लेने के लिए ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी.

व्यावसायिक खेती को बढ़ावा देने एवं बागवानी के लिए किसानों को जिले वार बागवानी फसलों के लिए भी Cluster Based Farming को बढ़ावा दिया जाएगा. इसके लिए खाद्य प्रसंस्‍करण एवं वाणिज्‍य मंत्रालय के साथ भी समन्‍वय स्‍थापित किया जाएगा.

तो वहीं किसानों को मछलीपालन व पशुपालन करने वाले किसानों को भी किसान क्रेडिट कार्ड उपल्बध कराया जा सकेगा. देश में औषधीय तथा सुगंधित पौधों की खेती के लिए भी अनुकूल कृषि जलवायु क्षेत्र उपलब्‍ध है. इस बजट में इस प्रकार की खेती को भी बढ़ावा दिए जाने की घोषणा की गई है. इससे न सिर्फ किसानों को बल्कि लघु एवं सीमांत उद्योगों का विकास भी हो सकेगा. इसके लिए बजट में 200 करोड़ का प्रावधान किया गया है.

English Summary: Agri News 2.2 Published on: 02 February 2018, 06:03 AM IST

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News