1. ख़बरें

एक मछली की कीमत मिली 3 लाख रुपये, रातों-रात मालामाल हुई बुजुर्ग महिला

fish

पश्चिम बंगाल की एक महिला की रातोंरात अमीर बनने की कहानी आपको हैरान कर देंगी. आश्चर्य की बात यह है कि इस महिला की लखपति बनने की कहानी में न तो कहीं बैंक का ज़िक्र है और न ही किसी लॉटरी टिकट की खरीद का. इस महिला ने एक विशालकाय मछली पकड़ी थी जिसकी कीमत उसे 3 लाख रुपये मिली और वह लखपति बन गई.

मिली जानकारी के अनुसार बुजुर्ग महिला पुष्पा कर जो कि दक्षिण 24 परगना जिले के सुंदरबन इलाके में सागर द्वीप में रहती है उन्होंने मछली पकड़ते समय नदी से 52 किलो की एक मछली निकाली, जिसके बाद महिला को उस मछली के लिए 6200 रुपये प्रति किलो का दाम मिला और उसे कुल 3 लाख रुपए से अधिक की राशि प्राप्त हुई. महिला को इतनी बड़ी राशि मिलने के बाद वो काफी खुश है.

fish

गांववालों की अगर मानें तो यह विशाल मछली शायद एक गुजरते हुए जहाज से टकरा गई थी जिसके बाद वह मर गई होगी. लेकिन उस मछली को किसी समुद्री जीव ने नहीं निगला इसलिए वह बची रह गई. वहीं महिला का कहना है कि मछली पकड़ते वक्त उसने इस विशालकाय मछली को तैरते हुए देखा जिसके बाद वो नदी में कुद कर उसे निकाल लिया. साथ ही महिला ने कहा कि मछली पकड़ने में उसे काफी परेशानी हुई लेकिन अंत में मशक्कत के बाद उसने उसे पकड़ कर कीनारे पर ले आयी.

मछली के बारे में लोगों ने बताया कि इसे भोला मछली कहते हैं. वहीं लोगों का कहना है कि मछली सड़ जाने के करण रबड़ की तरह हो गयी थी इसलिए इसे खाने के अलावा अन्य कामों में उपयोग किया जा सकता है. दक्षिण-पूर्व एशिया के देशों में मछली के ब्लबर जैसे ऑर्गन्स का निर्यात किया जाता है. मछलियों का प्रयोग कई बार औषधीय प्रयोजनों के लिए भी किया जाता है. उसी तरह ड्राय ब्लबर या फिश मावा 80,000 रुपये प्रति किलो के हिसाब से मिल सकता है. इस वाकया के बाद से बुजुर्ग महिला काफी खुश है और वो कहती हैं कि उसे लंबे समय से करती आ रही है कामों के मेहनत का फल मिला है. आर्थिक तंगी से जुझ रही महिला को पैसे मिलने के बाद उसकी जरुरतें भी पूरी हो सकेंगी.

English Summary: 3 lakh rupees worth of a fish, elderly woman became rich overnight

Like this article?

Hey! I am आदित्य शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News