1. ख़बरें

मटर के बीज पर मिल रही है 20 प्रतिशत सब्सिडी

स्वाति राव
स्वाति राव

Agriculture

अच्छी गुणवत्ता वाला बीज बंपर फसल उत्पादन के लिए सबसे महत्वपूर्ण इनपुट में से एक है. इसी कड़ी में तालाबंदी के बीच किसानों की कठिनाइयों को महसूस करते हुए, हिमाचल प्रदेश सरकार ने बीज पर सब्सिडी प्रदान करने का निर्णय लिया था. बता दें कि राज्य में इन दिनों मटर की बुवाई पर काम चल रहा है, लेकिन किसान की लागत से ज्यादा कहीं उसको मुनाफा मिल सके, इसके तहत कृषि विभाग ने यह निर्णय लिया है.

दरअसल, कृषि विभाग की तरफ से किसानों को मटर के बीज की खरीद पर 20 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है. जिले के सभी विभागीय कृषि प्रसार केंद्रों तक मटर बीज की खेप पहुंचाई गई है. हालांकि, औपचारिकता पूरी करने वाले किसानों को बीज वितरित किया जा रहा है.

सरकार का लक्ष्य (Government's Goal)

कृषि विभाग ने राज्य में इस रबी सीजन में करीब 3500 हेक्टेयर भूमि पर मटर फसल का उत्पादन करने का लक्ष्य तय किया है.

इस वजह से  विभाग ने  किसानों को उन्नत किस्म का बीज बाजार से कम कीमत पर मुहैया करवाने की तैयारी की है. कुल्लू में हर साल सब्जी उत्पादन का दायरा बढ़ता जा रहा है. सरकार और कृषि विभाग भी मटर बुवाई के लिए किसानों को प्रोत्साहित कर रहे हैं. 

इस खबर को पढें - कुसुम योजना: 90% सब्सिडी पर Solar Pump, जानिए ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया

100 रूपए प्रति किलो से मिलेंगे मटर का बीज (Pea Seeds Will Be Available From Rs 100 Per Kg)

इस साल विभाग की तरफ से 735 क्विंटल बीज उपलब्ध करवाए जाएंगे. किसानों को बाजार में मटर बीज 120 रुपये प्रति किलो के दाम से खरीदना पड़ रहा है, लेकिन विभाग की तरफ से दी जा रही सब्सिडी से किसानों को 100 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बीज मिलेगा.

मटर की खेती किन राज्यों में होती है?  (Which States Cultivate Peas)

भारत में मटर की खेती पंजाब, झारखंड, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश समेत अनेक राज्यों में होती है. वहीं देश में मटर उत्पादन में उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर है. जहां से देश का लगभग 46.37 फीसदी उत्पादन होता है. जबकि देश औसत उत्पादन 54 हजार 15 टन है.

English Summary: 20% subsidy on pea seeds

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters