Poetry

कोरोना संकट का परिचय

दुनिया भर का रोना है कोरोना है,

क्या जादू क्या टोना है कोरोना है!

कोई दवाई मिले न जब तक दुनिया को,

बस हाथों को धोना है कोरोना है..!

कैद रहो तुम घर में बाहर निकलो मत,

चद्दर तान के सोना है कोरोना है..!

सुधरो दुनिया वालों अब मत खून चखो,

बचा न कोई कोना है कोरोना है..!

मुंह को ढंककर रखो इतना ध्यान रहे,

वरना निश्चित होना है कोरोना है..!

हाथ मिलाना बंद करो अब जोड़ो भी,

मर्यादा को ढोना है कोरोना है..!

रक्त पिपासु बनना तो है कुछ ऐसा,

ज्यों पापों को बोना है कोरोना है..!



English Summary: duniya bhar ka rona hai corona hai

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in