1. लाइफ स्टाइल

खुजली को न करें नजरअंदाज वरना हो सकते है गंभीर बीमारियों के शिकार

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा

सर्दियों के मौसम में ज्यादातर लोगों को खुजली की समस्या हो जाती है क्योंकि ठंड के मौसम में हमारा शरीर पूरी तरह ढका होता है जिस वजह से  त्वचा को पूरी तरह ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है और त्वचा शुष्क (Dry ) होने लगती है जिससे से लोगों के शरीर में खुजली की समस्या उत्पन्न हो जाती है. ऐसे में अगर आप ज्यादा खुजली कर ले तो त्वचा में दाने और हल्की लालिमा होने लगती है और समय रहते इसका इलाज न किया जाये तो दानों में पस (रेशा ) बन सकती है जोकि भविष्य में एक बड़ी बीमारी का रूप धारण कर सकती है.

देर तक नहाने से करें परहेज

अगर आप ज्यादा देर तक गर्म पानी से नहाते है तो त्वचा का प्रॉटेक्टिव ऑइल यानी सुरक्षात्मक तेल बाहर निकल जाता है. जिससे त्वचा रूखी हो जाती है और जिससे शरीर में खुजली होने लगती है. इसलिए जितना हो सके गर्म पानी से परहेज ही करें.

ढेर सारा पानी का सेवन करें

सर्दियों में लोग पानी बहुत कम पीते है जिस वजह से डीहाईड्रेशन की समस्या हो जाती है. इसके साथ ही त्वचा भी रूखी होने लगती है. इसलिए जितना हो सके ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करें.

तुलसी के पत्ते का सेवन

सर्दी के मौसम में तुलसी के पत्तों का सेवन करें. क्योंकि इसमें मौजूद तत्व त्वचा को बैक्टीरिया से दूर रखता है और त्वचा को रूखा होने से भी बचाता है.

बेकिंग सोडा

सर्दी के मौसम में बेकिंग सोडा भी खुजली संबन्धित समस्या से राहत पाने के एक रामबाण इलाज है। ऐसे में आप पानी में बेकिंग सोडा मिलाकर उसकी पेस्ट तैयार करें. शरीर के जिस भाग में खुजली हो रही है उस हिस्से में लगाए. ऐसा करने से आपको काफी हद तक खुजली से राहत मिलेगी.

पेट्रोलियम जैली का करे इस्तेमाल 

अगर आपकी त्वचा काफी ज्यादा संवेदशील है, तो आप पेट्रोलियम जैली का इस्तेमाल कर सकते है. इससे खुजली तो कम होगी ही त्वचा भी मुलायम बनेगी.

English Summary: Homemade Remedies : Do not ignore the itching of winter, otherwise you may suffer from serious diseases. --

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News