1. लाइफ स्टाइल

कई बिमारियों का देसी उपचार है सौंफ, जानिए फायदे

भोजन के बाद आमतौर पर इस्तेमाल होने वाली सौंफ न सिर्फ स्वाद बल्कि सेहत के लिए भी कई कारणों से वरदान है. विशेषज्ञों के मुताबिक सौंफ सेहत का खजाना है, इसके सेवन से कई प्रकार की बिमारियां सही होती हैं. दिमाग को तेज करने में तो सौंफ का कोई जवाब ही नहीं है.

बच्चों की याद्दाश्त को अगर बढ़ाना है तो उन्हें थोड़ी मात्रा में सौंफ जरूर दें. विद्यार्थी जीवन में इसका सेवन अच्छा है. इसमें कैल्शियम, सोडियम, आयरन और पोटैशियम की मात्रा भी भरपूर होती है, जो आपके शरीर के लिए अच्छी है.

महिलाओं के लिए लाभकारी
महिलाओं के लिए सौंफ खाना अच्छा है. पीरियड्स के समय इसका सेवन करने से दर्द में राहत मिलती है. इतना ही नहीं ये मूड को ङी खुशनुमा बनाएं रखता है. कुछ शोध में ऐसा भी दावा हुआ है कि इसके सेवन से हार्मोन्स में संतुलन बनता है.

आँखों का अच्छा दोस्त
जिन लोगों की आंखें कमजोर हैं, उन्हें सौंफ का सेवन जरूर करना चाहिए. आंखों की थकान दूर करने में सौंफ सहायक है. इतना ही नहीं, ये हमारी देखने की क्षमता को भी प्रभावी रूप से बढ़ाती है.

खून की साफाई
सौंफ का सेवन खाली पेट करना चाहिए. इससे खून साफ होता है और डाइजेशन संबंधित समस्याएं भी दूर होती हैं. कई शोधकर्ताओं ने तो यहां तक माना है कि सौंफ का सेवन हमारी त्वचा के लिए भी फायदेमंद है.

मुंह की बदबू करता है दूर
कई लोगों के मुंह से अक्सर बदबू आती है. इसके लिए वो कई बार महंगी दवाइयां भी लेते हैं. सौंफ का सेवन इस परेशानी को दूर करने में सहायक है. सबसे अच्छी बात तो यही है कि इसे खाने का कोई साइड इफेक्ट नहीं है. हर दिन इसका सेवन तीन से चार बार आधा चम्मच करना चाहिए, इससे मुंह से आने वाली बदबू दूर होती है.

ऊर्जा का साधन
कई लोगों को थकान बहुत जल्दी होती है. सौंफ हमारे शरीर को शक्ति प्रदान करने में सहायक है. ऐसे में उन्हें इसका सेवन करना चाहिए. चम्मच भर सौंफ का सेवन आपके शरीर को चार्ज करते हुए काम करने की शक्ति प्रदान कर सकती है.

English Summary: fennel is beneficial for health know more about it

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News