Lifestyle

आटा खरीदते समय रहे सावधान, ऐसे करें असली-नकली की पहचान

बदलते हुए वक्त के साथ मिलावट का खेल हर क्षेत्र में हुआ है. लेकिन बात जब खाद्य पदार्थों की हो तो चिंता करना स्वाभाविक ही है. खाद्य पदार्थों में मिलावट का मतलब सीधे आपके स्वास्थ से है. इसलिए ये जरूरी है कि आप जिन खाद्य पदार्थों का सेवन कर रहें हो वो शुद्ध हो.

गौरतलब है कि खाद्य पदार्थों में आटे का सेवन दैनिक स्तर पर सबसे अधिक किया जाता है. लेकिन क्या जिस आटें का सेवन आप करते हैं, वो पूर्ण रूप से शुद्ध है?  या उस आटें में किसी तरह कि मिलवाट की गयी है?  अगर आपका आटा मिलावटी है, तो किस तरह इस बात का पता लगाया जा सकता है?  आज इस आर्टिकल में हम आपको इन्हीं सब बातों के बारें में बताएँगे.

ऐसे करें नकली-असल आटे की पहचानः

गेहूं के आटे में शुद्धता की पहचान करना अधिक मुश्किल नहीं है. बता दें कि गेहूं के आटे में अक्सर बोरिक पाउडर, चाक पाउडर और कभी-कभी मैदा तक मिलाया जाता है. लेकिन आटा खरीदते समय अगर आप थोड़ी सी जागरुक्ता दिखाये तो आटे की शुध्दता का पता लगा सकते हैं. आटे की शुध्दता जानने के लिए आप एक गिलास पानी में थोड़े से आटे का छिड़काव कर ये देखें की शीर्ष पर तैरता है या नहीं.

इसके अलावा एक चम्मच आटे में नींबू के कुछ रस डालकर देखें. अगर ऐसा करने पर आटें में बुलबुले बने तो जान लीजिए आपका आटा मिलावटी है. बता दें कि खड़िया मिट्टी आमतौर में आटें में मिलाया जाता है. इस पदार्थ में कैल्शियम कार्बोनेट पाया जाता है इसलिए नींबू के संपर्क में आने पर ये बुलबुले छोड़ते हैं.  



Share your comments