1. औषधीय फसलें

ये जड़ी-बूटियां सर्दियों में रखेंगी आपको बीमारियों से दूर !

किशन
किशन
herbal garden

अब ठंड का मौसम आ चुका है ऐसी सर्दी में खुद को ठंड से बचाना और अपने शरीर को पूरी तरह से गर्म बनाए रखना एक चुनौती होता है. इस कारण लोग आए दिन बीमार भी पड़ते रहते है. ऐसे में जरूरी है कि आप पूरी तरह से चुस्त और दुरूस्त बने रहें. सर्दियों के मौसम में आपको खास तरह की जड़ी-बूटी का सेवन करते रहना चाहिए. इसीलिए शरीर को ठीक रखने के लिए कुछ खास तरह की जड़ी-बूटियों के बारे में आपको जानकारी दी जा रही है जो कि सर्द मौसम में आपको एलर्जी से बचाएगी. तो आइए जानते है कि वह कौन सी जड़ी बूटी है जिनके सेवन से सर्दी के मौसम में आपको राहत मिल सकती है.

तुलसी

तुलसी एक ऐसा पौधा है जिसे एलर्जी, सांस संबंधी समस्या, ब्रोकाइटिस की समस्या से निजात को पाने में पूरी तरह से कारगार माना गया है. इसके लिए दो पत्तियों का प्रतिदिन सेवन या फिर आप अपनी चाय में डालकर पी सकते है.

अदरक

अदरक को भी जड़ी बूटी के तौर पर ही देखा जाता है. हाल ही शोध में यह सामने आया है कि अदरक का सेवन करने से गले की खराश संबंधी समस्याओं में काफी आराम मिलता है. इसके अलावा चाय के साथ इसका सेवन डिटॉक्स ड्रिंक के रूप में किया जाता है. इसको काली मिर्च और शहद के साथ मिलाकर लेने पर सांस संबंधी एलर्जी में काफी ज्यादा आराम मिलता है.

herbal garden

बटरबर

इससे माइग्रेन की समस्या काफी ज्यादा होती है. शोध में इस बात की पुष्टि हुई है कि यह अनचाहे एल्रजी के लक्षणों में लाभदायक है. जरूरत से ज्यादा साइड इफेक्ट होने से काफी हानि होती है.

बिच्छू बूटी

यह एक तरह का बारहमासी पौधा है इसका प्रयोग उम्र के हिसाब से किया जाता है. मौसमी एलर्जी में यह काफी लाभदायक है.

रोजमेरी

ताजे और सूखे रोजमेरी का प्रयोग व्यंजन में किया जाता है. रोजमेरी में एलर्जी से लड़ने की क्षमता के साथ ही अस्थमा से पीड़ित लोगों को काफी ज्यादा राहत होती है.

और भी पढ़े: एंटीबॉयोटिक का विकल्प बनी 13 जड़ी-बूटियां

English Summary: These herbs will take special care of your health in winter

Like this article?

Hey! I am किशन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News