Animal Husbandry

जानिए पंखों वाली बेट्टा मछली के बारे में जिसे एक्वेरियम में रखा जाता है

beta fish

आपने अपने जीवन में कई तरह की मछलियों को देखा होगा या फिर उनके बारे में सुना होगा. हर मछली की अपनी एक अलग ही खासियत होती है. जो उसको खास बनाती है. इसी कड़ी में हम आपको बता रहे है एक ऐसी मछली के बारे में जिसके पंख काफी ज्यादा घने होते है. बता दें कि प्यारी सी दिखने वाली इस मछली का नाम है बेट्टा. इसके सुंदर पंखों की वजह से इस मछली को खास एक्वेरियम में रखा जाता है. यह काफी छोट और खुशमिजाज होती है, जो खासकर छोटे टैंक के लिए ही बनी होती है. यह मछली अपने आप में अकेले रहना ही पंसद करती है. यह अम्लीय पानी और हल्के गर्म पानी में रहना पसंद करती है. इस मछली को ज्यादा ठंड पसंद नहीं है.

मछली की प्रकृति

यह मछली दक्षिण-पूर्व एशिया की स्थानीय मछली होती है. इसे चावल के खेतों में पानी में पाया जाता है. इस मछली को थाइलैंड में प्लाकड के नाम से जाना जाता है और इसको वहां द ज्वेल ऑफ ओरिएंट भी कहा जाता है. लाल, नीले, बैंगनी और सफेद रंगों की इन मछलियों को कंटेनर मे चलते देखना बहुत ही सुंदर लगता है. इनका आकार 6 से 8 सेमी तक ही होता है, इस मछली को आप छोटे से कंटेनर में आसानी से रख सकते है.

fish

मछली है लड़ाकू

यह मछली देखने में जितनी सुंदर होती है उतनी ही ज्यादा आक्रमक होती है. इसीलिए एक ही कंटेनर के अंदर दो नर बेट्टा मछली को नहीं रखा जाता है. इसके पीछे वजह से यह मछलियां आपस में ज्यादा लड़ती है. इसीलिए इनको अलग करके रखा जाना ही ठीक है अन्यथा यह एक-दूसरे को काफी नुकसान पहुंचा सकती है.

नर मछली करता हिंसा

नर बेट्टा मछली हवा का बुलबुला बनाती है, जिसके लिए वह बहुत सारी हवा को सोखकर पानी में छोड़ता है, इसके बाद वह मादा मछली को उस बुलबुले में चलने के लिए बुलवाता है. अगर मछली मना कर दें तो वह मादा मछली के साथ हिंसा भी कर सकता है. नर उसका पीछा करता है, उसे काटता है, आखिर में मछली जब बुलबुले वाले हिस्से में जाती है तो अंडा देने के बाद वो मादा को बाहर निकाल देता है और उन सारे अंडों की खुद हिफाजत करता है.

सम्बन्धित खबर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें !

आधुनिक तकनीकों के सहारे मछली पालन कर हो रहे मालामाल, दूसरों के लिए पेश कर रहे मिसाल



English Summary: This is the specialty of this big winged fish

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in