MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. पशुपालन

अधिक शहद और मोम के लिए ‘यूरोपियन बी’ का पालन करें, होगा बड़ा मुनाफा

बदलते हुए जमाने के साथ कृषि से जुड़े काम भी लघु व्यवसाय में बदलने लगे हैं. इन व्यवसायों में प्रतिस्पर्धा कम होने के कारण मुनाफे की बड़ी संभावनाएं हैं. समय के साथ कृषि योग्य भूमि घटने के कारण लोग सब्जियों, फलो, फूलों आदि के उत्पादन की तरफ बढ़ रहे हैं. कृषि पर आधारित मधुमक्खी पालन का व्यवसाय भी ऐसा ही काम है, जिसे कम खर्चीले घरेलू उद्योगों की श्रेणी में रखा गया है.

सिप्पू कुमार
सिप्पू कुमार

बदलते हुए जमाने के साथ कृषि से जुड़े काम भी लघु व्यवसाय में बदलने लगे हैं. इन व्यवसायों में प्रतिस्पर्धा कम होने के कारण मुनाफे की बड़ी संभावनाएं हैं. समय के साथ कृषि योग्य भूमि घटने के कारण लोग सब्जियों, फलो, फूलों आदि के उत्पादन की तरफ बढ़ रहे हैं. कृषि पर आधारित मधुमक्खी पालन का व्यवसाय भी ऐसा ही काम है, जिसे कम खर्चीले घरेलू उद्योगों की श्रेणी में रखा गया है.

मधुमक्खी पालन का कार्य समाज का कोई भी वर्ग कर सकता है. इसके लिए किसी तरह की विशेष योग्यता की जरूरत नहीं है. वैसे अगर आप भी मधुमक्खी पालन कर मुनाफा कमाना चाहते हैं, तो आपके लिए ‘यूरोपियन बी’ फायदेमंद साबित हो सकती है.

यूरोपियन बी का मूल स्थान

यूरोपियन बी नाम की प्रजाति को मोन समुदाय कीटों के परिवार का सदस्य है. इनका पालन प्रायः शहद एवं मोम प्राप्त करने के लिए किया जाता है. इस प्रजाति की मधुमक्खियों का मूल निवास इटली है. हालांकि विद्ववानों में इस बात को लेकर मतभेद है. कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि यूरोपीय देशों से इसे भारत लाया गया होगा.

चारा

यूरोपियन बी को चारे के रूप में सब्जियों वाली फसलें, जैसे- शलगम, मूली, बंदगोभी, गाजर, प्याज और खरबूजा आदि पसंद है. इसी तरह इन्हें तेल वाली फसलें और चारे वाली फसलें भी आप खाने के रूप में दे सकते हैं.

मॉनसून में विशेष देखभाल

अगर आपने इस प्रजाति की मधुमक्खियों को पहले से ही पाल रखा है, तो सुनिश्चत करें की उनके रहने की जगह पर नमी ना हो. उनके निवास स्थान के पास जल निकासी का अच्छा प्रबंध हो. बरसात के दिनों में आप इन्हें चीनी का घोल भोजन के रूप में दे सकते हैं.

चींटियों से बचाव

गर्मी और वर्षा के मौसम में इनका वंश कमजोर हो जाता है. इस दौरान छोटे कीटों का इन पर आक्रमण होता है, विशेषकर चींटियों से इन्हें बचाने की जरूरत पड़ती है. चींटियों से बचाव के लिए लिए स्टैंड के कटोरियों में पानी भरकर उसमे कुछ बूंद किरोसिन आयल डाल दें. इससे चींटियां मधुमक्खियों की गृहों पर चढ़ने में कामयाब नहीं हो पाएंगी.

(आपको हमारी खबर कैसी लगी? इस बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें. इसी तरह अगर आप पशुपालन, किसानी, सरकारी योजनाओं आदि के बारे में जानकारी चाहते हैं, तो वो भी बताएं. आपके हर संभव सवाल का जवाब कृषि जागरण देने की कोशिश करेगा)

ये खबर भी पढ़े: तरबूज के छिलकों को बेकार न समझे, मिनटों में बनाए ये स्वादिष्ट मिठाई, पढ़े बनाने की पूरी विधि

English Summary: European honeybee can give huge profit to beekeepers know more about advance techniques and complete information of European honeybee Published on: 10 June 2020, 11:28 IST

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News