MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. पशुपालन

मुर्गियों को अंडा देने की मशीन बना देगा ये चारा! मुर्गी पालकों को होगा बंपर प्रॉफिट

अगर आप भी मुर्गी पालन करते हैं, तो खबर जरूर पढ़ें. इस खबर में हम आपको मुर्गियों के एस ऐसे चारे के बारे में बताएंगे, जिससे आपकी मुर्गी अंडा देने की मशीन बन जाएगी. आइए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं.

बृजेश  चौहान
बृजेश चौहान
मुर्गियों के लिए सबसे बेस्ट चारा
मुर्गियों के लिए सबसे बेस्ट चारा

भारत एक कृषि प्रधान देश है. यहां आज भी बड़े स्तर पर खेती की जाती है. हालांकि, पिछले कुछ सालों में लोगों का रुझान मुर्गी पालन की ओर तेजी से बढ़ता है. मुर्गी पालन में अच्छा मुनाफा देखे लोगों इस व्यवसाय को शुरू कर रहे हैं. अगर आप भी मुर्गी पालन करते हैं या करने की सोच रहे हैं, तो ये खबर आप ही के लिए हैं. इस खबर में हम आपको मुर्गियों के एक ऐसे चारे के बारे में बताएंगे, जो मुर्गियों को अंडा देने की मशीन बना देगा ये चारा! जी हां, ये चारा मुर्गियों में अंडा उत्पादन क्षमता बढ़ा देगा. जिससे आप अच्छा खासा मुनाफा कमा पाएंगे.

मुर्गियों को खिलाएं ये चारा

जिस चारे की हम बात कर रहे हैं, उसे अजोला/Azolla कहा जाता है. अजोला एक जलीय फर्न है जो पानी की सतह पर उगता है और हरी खाद के रूप में उपयोग किया जाता है. यह पशुओं और मुर्गियों के लिए उत्तम हरा चारा माना जाता है. अजोला की खेती की जाती है और इसका उत्पादन लागत कम होती है. इसमें प्रोटीन की अच्छी मात्रा होती है, जिसे पशुओं और मुर्गियों के लिए उत्तम चारा बनाने के लिए उपयोग किया जाता है.

अजोला को भूमि की सतह पर ऊंचे जलस्तर पर उगाने की आवश्यकता होती है और इसकी वृद्धि के लिए उपयुक्त तापमान 25 से 30 डिग्री सेल्सियस होता है. अजोला की उत्पादन लागत 2-3 रुपए प्रति किलो तक होती है और इसके उत्पादन में कम पानी की जरूरत होती है. इसे पशुओं के लिए ड्राइफ्रूट कहा जाता है और हरे चारे के रूप में पशुओं को खिलाया जाता है. अजोला का उत्पादन चारा के खर्च को कम करने में मदद करता है और पशुओं के स्वास्थ्य के लिए उत्तम है.

मुर्गी पालन में अजोला के फायदे/Benifits of Azolla in Poultry farming

  • इसमें प्रोटीन, अमीनो अम्ल, विटामिन, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, फेरस, कॉपर तथा मैग्निशियम आदि पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाया जाता है. ये पोषक तत्व मुर्गी के लिए बेहद जरूरी होते हैं.

  • अजोला की विशेषता है कि यह अनुकूल वातावरण में 5 दिनों में बढ़कर दोगुना हो जाता है, पूरे वर्ष इसके, प्रति हैक्टर, 300 टन से भी अधिक का उत्पादन किया जा सकता है. यानी चारे की साल भर की चिंता खत्म.

  • अजोला कम लागत में बेहतर परिणाम देता है और इसे तैयार करने में कम समय लगता है.

  • मुर्गियों को उनके फीड के रूप में 10- 15 ग्राम अजोला प्रतिदिन खिलाने से इनके शारीरिक भार व अंडा उत्पादन क्षमता में 10- 15 प्रतिशत तक की वृद्धि देखी गई है.

  • इसका उपयोग मुर्गियों के लिए पोषण से भरपूर चारा उत्पादन करने में मदद करता है जिससे मुर्गियों का स्वास्थ्य और उत्पादकता बढ़ती है.

English Summary: Azolla in Poultry farming best fodder for chicken feed Published on: 29 March 2024, 05:00 IST

Like this article?

Hey! I am बृजेश चौहान . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News