1. पशुपालन

गायों की 4 देशी नस्लें, जो देती हैं 80 लीटर तक दूध

स्वाति राव
स्वाति राव

Gir Cow

देश में दूध और उससे बने उत्पादों की बढती मांग के चलते लाखों की संख्या में लोग पशुपालन और डेयरी फार्मिंग का व्यवसाय करते हैं. इसके अलावा गाय का दूध काफी पौष्टिक भी होता है. पशुपालक गाय को दुधारू पशु के रूप में पालना पसंद करते हैं. ऐसे में उन नस्लों की गायों की मांग अधिक हो गई है, जो ज्यादा मात्रा में दूध देती हैं. तो क्या आप जानते हैं भारत में ऐसी भी गाये हैं जो रोजाना 80 लीटर तक दूध देती हैं?  आइए जानते हैं भारत में सबसे ज्यादा दूध देने वाली गायों के बारे में-

गुजरात की गिर गाय (Gir Cow of Gujarat)

गुजरात की गिर गाय भारत में सबसे ज्यादा दुधारू गाय मानी जाती है. गिर गाय के थन बहुत बड़े होते हैं,  इसलिए इसका दूध कम से कम 4 लोग मिलकर दुहते हैं. यह एक दिन में 50 से 80 लीटर तक दूध देती है. यह गाय गुजरात के गिर जंगलों में पाई जाती है,  इसलिए इसका नाम भी गिर गाय है.

साहिवाल गाय (Sahiwal Cow)

साहिवाल गाय भारत में हरियाणा, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश जिले में पाई जाती है. इस गाय की खासियत है कि यह साल में 2000 से 3000 लीटर तक दूध देती है. इस नस्ल की गाय बछड़ा देने के बाद करीबन 10 महीने तक दूध देती है.

लाल सिंधी गाय (Red Sindhi Cow)

लाल सिन्धी गाय सिंध इलाके में पाई जाती है जिस वजह से इसका नाम लाल सिंधी गाय रखा गया है. यह भारत में अधिक दुग्ध उत्पादन के लिए जानी जाती है. इस नस्ल की गाय साल में 2000 से 3000 लीटर तक दूध देती हैं. ये भारत के पंजाब, हरियाणा, कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल और ओडिशा इलाके में भी पायी जाती हैं.

ये खबर भी पढ़ें: जानिए क्या है मेवाती गाय की पहचान और कहां मिलती है?

राठी गाय (Rathi Cow)

इस नस्ल की गाय राजस्थान के गंगानगर, बीकानेर और जैसलमेर इलाकों में पाई जाती हैं. इस नस्ल की गाय ज्याद मात्रा में दूध का उत्पादन के लिए जानी जाती है. राठी नस्ल की गाय दिन में 15 लीटर तक दूध देती है.

ऐसी ही पशुओं सम्बन्धी जानकारी जानने के लिए जुड़े रहिये कृषि जागरण हिंदी पोर्टल से.  

English Summary: 4 deshi breeds of cows, which give up to 80 liters of milk

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters