MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

Apple Farming: सेब की खेती पर यह राज्य सरकार दे रही 50% अनुदान, उठाएं लाभ

जम्मू-कश्मीर प्रशासन और हॉर्टिकल्चर विभाग मौसम के हालात को देखते हुए कश्मीर में सेब की खेती के लिए अनुदान प्रदान कर रही है.

रवींद्र यादव
रवींद्र यादव
Apple cultivation
Apple cultivation

Apple Farming: भारत में सबसे ज्यादा सेब की खेती कश्मीर में की जाती है. यहां के किसानों के लिए आमदनी का सबसे बड़ा माध्यम सेब है. कश्मीर में उगाए जाने वाली सेब की किस्म पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हैं. सेब की बागवानी की वजह से कश्मीर में लगभग 30 लाख लोगों को रोजगार मिलता है. बीते कुछ दिनों में लगातार हो रही बारिश की वजह से किसानों की पैदावार पर काफी गहरा असर पड़ा है. जिसे देखते हुए सरकार ने यहां के किसानों को सेब की खेती के लिए अनुदान देने का कदम उठाया है.

वृक्षारोपण पर सरकार दे रही जोर

जम्मू-कश्मीर प्रशासन और हॉर्टिकल्चर विभाग ( Jammu and kashmir administration amd Horticulture department ) ने मौसम के हालात को देखते हुए, यहां उच्च घनत्व वृक्षारोपण पर जोर दिया है. इससे यहां के किसानों की आमदनी में बढ़ोत्तरी होगी. सरकार के इस नए प्रयोग में यूरोप के देशों से सेब की विभिन्न किस्मों को मंगाकर कश्मीर में लगाया जाएगा. इससे यहां के किसानों की आमदनी काफी अच्छी होगी.

सरकार दे रही अनुदान

सेब की इस नई किस्म के वृक्षारोपण के लिए जम्मू-कश्मीर हॉर्टिकल्चर डिपार्टमेंट किसानों को 50% तक का अनुदान दे रही है. इसके साथ ही हॉर्टिकल्चर विभाग किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए खेती से जुड़ी तकनीकी जानकारियां भी किसानों को प्रदान कर रही है. इस कारण कश्मीर के शिक्षित युवा भी खेती की तरफ रुझान कर रहे हैं. विभाग का कहना है कि इस कदम से यहां सेब की पैदावार तो बढ़ेगी ही साथ ही लोगो की आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी.

ये भी पढ़ें: इस दिन आएगी पीएम किसान सम्मान निधि की 15वीं किस्त, देखें ये रिपोर्ट

बेहतर होगी पैदावार

कश्मीर के किसानों का कहना है कि इस अनुदान से यहां पर एक बार फिर से सेब का उत्पादन बढ़ेगा और लोगों को रोजगार मिल सकेगा. हॉर्टिकल्चर डिपार्टमेंट का कहना है कि आने वाले एक से दो महीने में लोगों तक इस नए किस्म के सेब को मुहैया करा दिया जाएगा.  

English Summary: This state government is giving 50% subsidy on apple cultivation Published on: 01 September 2023, 12:50 IST

Like this article?

Hey! I am रवींद्र यादव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News