MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

Subsidy for Beekeeping: किसानों की आय में होगी बढ़ोत्तरी, यह सरकार दे रही मधुमक्खी बॉक्स, जानें योजना से जुड़ी पूरी जानकारी

Beekeeping Business: मधुमक्खी पालन का बिजनेस किसानों की आय बढ़ाने का सबसे अच्छा साधन है. दरअसल, इस व्यवसाय के लिए सरकार की तरफ से भी किसानों की मदद की जाती है. बिहार सरकार भी किसानों की मदद करने के लिए मधुमक्खी पालन करने के लिए सब्सिडी दे रही है.

लोकेश निरवाल
लोकेश निरवाल
मधुमक्खी पालन पर यह सरकार दे रही 90% सब्सिडी
मधुमक्खी पालन पर यह सरकार दे रही 90% सब्सिडी

Bee Keeping: किसानों की बीच मधुमक्खी पालन तेजी से बढ़ रहा है. आज के दौर में मधुमक्खी पालन का बिजनेस/ Beekeeping Business किसानों की आमदनी बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका है. इस व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए सरकार के द्वारा भी किसानों की आर्थिक तौर पर मदद की जाती है. इसी क्रम में बिहार सरकार ने राज्य में मधुमक्खी पालन/ Madhumakhi Palan के प्रति किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए मधुमक्खी बॉक्स (Bee Box) और मधुनिष्कासन यंत्र का वितरण किया जा रहा है.

बता दें कि बिहार सरकार के द्वारा मधुमक्खी पालन का व्यवसाय/ Beekeeping Business सही से शुरू करने के लिए जीविका दीदियों को मधुमक्खी बॉक्स भी उपलब्ध करवाए हैं. ऐसे में राज्य सरकार की इस पहल के बारे में विस्तार से जानते हैं.

मधुमक्खी पालन पर सब्सिडी की सुविधा

बिहार सरकार राज्य के किसानों को राष्ट्रीय बागवानी मिशन और राज्य योजना के तहत मधुमक्खी पालन करने के लिए सामान्य वर्ग के किसानों को करीब 75 प्रतिशत और अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के किसानों को लगभग 70 प्रतिशत तक सब्सिडी की जा रही है. ऐसे में सरकार की इस योजना का लाभ उठाने वाले किसानों को मधुमक्खी पालन करने के लिए सामान्य वर्ग के किसान 25 प्रतिशत और अनुसूचित जाति/जनजाति को 10 प्रतिशत तक ही भुगतान करना होगा. इसके अलावा राज्य के किसान को चालू वित्त वर्ष में कुल 3000 मधुमक्खी बॉक्स देने का लक्ष्य रखा है, जिसमें से जीविका दीदियों को 1500 और किसानों को 1500 मधुमक्खी बॉक्स दिए जाएंगे.

एक मधुमक्खी बॉक्स शहद के उत्पादन की मात्रा

किसान एक मधुमक्खी बॉक्स से सालाना करीब 40 किलो शहद तक का उत्पादन प्राप्त कर सकते हैं. वहीं, भारतीय बाजार में शहद की कीमत 400 से 500 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिकता है और शुद्ध शहद करीब 700 रुपये किलो बिकता है. ऐसे में अगर हिसाब लगाया जाए, तो किसान मधुमक्खी बॉक्स से एक साल में लगभग 20,000 रुपये तक की कमाई कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: मधुमक्खी पालन की पूरी जानकारी

मधुमक्खी पालन पर कुल खर्च

अगर हिसाब लगाया जाए, तो किसान मधुमक्खी पालन की शुरुआत/ Beginning of Beekeeping 10 से 20 मधुमक्खी बॉक्स से भी की सरलता से कर सकते हैं. अगर वह 100 पेटियों की इकाई से मधुमक्खी का कारोबार शुरू करते  हैं, तो इसके लिए  5 लाख के करीब खर्च आएगा. वहीं, किसान 100 मधुमक्खी बॉक्स से 4 हजार किलो शहद निकाल सकते हैं. अगर एक किलो शुद्ध शहद की कीमत 700 रुपए के करीब है तो आप इससे  ढाई लाख रुपए से ज्यादा कमाई कर सकते हैं.

English Summary: Subsidy for Beekeeping Business Bee Box Beginning of beekeeping Bihar Government Scheme madhumakhi palan Published on: 05 February 2024, 05:15 IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News