आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया और बीमा कंपनियां

अनवर हुसैन
अनवर हुसैन

केंद्र की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की जनहित में जितनी भी महत्वकांक्षी योजनाएं हैं उसमें पीएम फसल बीमा योजना महत्वपूर्ण है. हमारे देश में कृषि पूरी तरह मौसम के मिजाज पर आधारित है. मौसम अनुकूल होने और समान अनुपात में बारिश होने पर फसल अच्छी होती है. उसी तरह कम बारिश होने पर सूखा पड़ता है और जरूरत से अधिक वर्षा होने पर भी फसलों का नुकसान होता है. इस आधार पर हम कह सकते हैं कि कृषि में हमेशा जोखिम बना रहता है. सरकार किसानों को जोखिम से बचाना चाहती है और उन्हें लाभ भी पहुंचना चाहती है. लेकिन सरकार इसके लिए पूरी तरह सरकारी खजाने से पर्याप्त राशि खर्च नहीं करनी चाहती है. यही वह स्थिति जहां सरकारी और गैर सरकारी कृषि फसल बीमा कंपनियों की भूमिका बढ़ जाती है.

किसानों को पूर्ण रूप से आर्थिक मदद करने में सरकार की नाकामियों को बीमा कंपनियां एक तरह से भरपाई करती हैं. इसलिए सरकार को भी कृषि बीमा कंपनियों की कुछ अनचाही शर्तें भी मानना पड़ती है. अधिक संख्या में फसल बीमा का दावा निपटाने का जब समय आता है तो विवाद भी खड़ा होता है. बीमा कंपनियां दावा की असलियत पर भी सवाल उठा देती हैं. लेकिन कुल मिलाकर देखा जाए तो बीमा कंपनियां किसानों को फसल बीमा का लाभ पहुचाने में सरकार की ओर से एक माध्यम का काम करती हैं. इसलिए कि फसल बीमा का प्रिमियम का बड़ा हिस्सा सरकार ही वहन करती है.

पीएम फसल बीमा योजना को मूर्त रूप देनेवाली बीमा कंपनियों में एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी, बजाज एलियाएंज, भारती अक्सा जनरल इंश्योरेंस, चोलामंडलम एमएस जनरल इंश्योरेंस, आईसीआईसीआई लोंबार्ड जनरलल इंश्योरेंस, इफको टोकियो जनरल इंश्योरेंस और नेशनल इंश्योरेंस कंपनी आदि शामिल हैं.

ये खबर भी पढ़े: PMFBY: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के दायरे में आने वाली फसलें, लाभ, उद्देश्य और प्रीमियम राशि

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने का तरीका

  • सबसे पहले आपको PM फसल बीमा योजना के आधिकारिक पोर्टल https://pmfby.gov.in/ पर जाना होगा.

  • इसके बाद होमेपेज पर “Farmer Corner” में “Apply for Crop Insurance by yourself” के लिंक पर क्लिक करें.

  • इसके बाद आपको वहां Farmer Application पेज दिखाई देगा, जहां पर आपको “Guest Farmers” के बटन पर क्लिक करना है.

  • आप इसके https://pmfby.gov.in/farmerRegistrationForm पर भी क्लिक कर सकते हैं.

  • इसके बाद आपके पास प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का किसान पंजीकरण फार्म खुल जाएगा.

  • पंजीकरण फार्म में पूछी गई सभी जानकारी को ध्यान से भरें जैसे कि नाम, पता, फोन नंबर, आधार कार्ड, बैंक अकाउंट की जानकारी इत्यादि.

  • सभी जानकारी भरने और अपना मोबाइल नंबर OTP से सत्यापित और आधार नंबर सत्यापित करने के बाद “Create User” के बटन पर क्लिक करें.

  • किसान पंजीकरण के बाद अपने मोबाइल नंबर और OTP की मदद से लॉगिन करें और बाकी के चरणों को पूरा करें जैसे कि दस्तावेज़ अपलोड आदि.

  • पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपको एक “Receipt / Reference” नंबर मिलेगा जिसका इस्तेमाल आवेदन की स्थिति पता करने के लिए किया जा सकता है.

आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर हेल्पलाइन वाले टैब में क्लिक कर आप अन्य जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त प्रायः सभी बीमा कंपनियां टोल फ्री नंबर की सुविधा देती हैं. फसल बीमा के लिए पंजीकृत किसान किसी भी आपात स्थिति या फसलों के नुकसान होने की जानकारी टोल फ्री नंबर पर फोन कर दे सकते हैं.

ऐसे कर सकते हैं आवेदन स्थिति की जानकारी

जो किसान पीएम फसल योजना पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कर चुके हैं वे PMFBY एप्लिकेशन स्टेटस बड़ी आसानी से जान सकते हैं. इसके लिए PMFBY Application Status अथवा आवेदन की स्थिति पता करने के लिए योजना पोर्टल के होमेपेज पर “Application Status” के लिंक पर क्लिक करके अपना “Receipt Number” डालना है और “Check Status” के लिंक पर क्लिक करना है.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PM Fasal Bima Yojana) से अब तक लाखों किसान फायदा उठा चुके हैं और दिन पर दिन इनकी संख्या बढ़ती जा रही है. इस योजना से किसानों की आय तो बढ़ ही रही है और उनके ऊपर बढ़ रहे कर्ज का बोझ भी कम हो रहा है. पीएम फसल बीमा योजना किसानों को राहत देने वाली योजना साबित हुई है. फसलों के नुकसान होने पर किसानों को बीमा कंपनियों से राहत मिल जाती है.

ये खबर भी पढ़े: Pradhanmantri Fasal Bima Yojana का लाभ लेने के लिए जरूरी दस्तावेज, फॉर्म और नियम व शर्तें

English Summary: Online application process and insurance companies for PMFBY

Like this article?

Hey! I am अनवर हुसैन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News