MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

फसल नुकसान होने पर यह राज्य सरकार दे रही मुआवजा, ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन

Sarkari Yojana: बिहार सरकार राज्य के किसानों को फसल नुकसान होने पर बिहार राज्य फसल सहायता योजना के अंतर्गत आर्थिक मुआवजा दे रही हैं. दरअसल, राज्य सरकार इस योजना के तहत किसानों 7 से 10 हजार रुपये की मदद करती है. यहां जानें इस योजना से जुड़ी पूरी जानकारी-

लोकेश निरवाल
लोकेश निरवाल
फसल नुकसान पर किसानों को मिलेगी मुआवजा
फसल नुकसान पर किसानों को मिलेगी मुआवजा

Bihar Government Scheme: किसानों की भलाई के लिए बिहार सरकार समय-समय पर अपनी योजनाओं में बदलाव करती रहती है. इसी क्रम में बिहार कृषि विभाग ने बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत रबी 2023-24 मौसम की फसलों के लिए अनुदान दे रही हैं. राज्य सरकार की इस योजना के तहत किसानों को फसल खराब व नुकसान होने पर सरकार की तरफ से आर्थिक मुआवजा उपलब्ध करवाया जाता है. सरकार की इस योजना के अंतर्गत किसानों को फसल नुकसान होने पर 7 से 10 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से दिए जाते हैं.

अगर आप भी बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत फसल नुकसान होने पर आर्थिक मदद प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों का ध्यान रखना चाहिए. ऐसे में आइए सरकार की इस योजना के बारे में विस्तार से जानते हैं.

बिहार राज्य फसल सहायता योजना का लाभ

राज्य के किसान को बिहार राज्य फसल सहायता योजना के अंतर्गत फसल नुकसान होने पर दो तरह से आर्थिक मदद की जाती है. एक 20 प्रतिशत से अधिक क्षति होने पर लगभग 10,000 रुपये प्रति हेक्टयर और दूसरा 20 प्रतिशत तक क्षति होने पर लगभग  7,500 रुपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से दिया जाएगा.

आवेदक किसान निम्नानुसार, दस्तावेज अपलोड करें

रैयत किसान

  • अग्घन भू- स्वामित्व प्रमाण-पत्र (31 मार्च 2022 के पश्चात निर्गत)/राजस्व

  • रसीद (31 मार्च 2023 के पश्चात निर्गत)

गैर रैयत किसान

स्व घोषणा-पत्र (वार्ड सदस्य अथवा किसान सलाहकार द्वारा प्रतिहस्ताक्षरित)

रैयत एवं गैर रैयत दोनों श्रेणी के किसान

  • अघतन भू- स्वामित्व प्रमाण-पत्र (31 मार्च 2022 के पश्चात निर्गत)/राजस्व

  • रसीद (31 मार्च 2023 के पश्चात निर्गत)

फसलवार अधिसूचित क्षेत्र/इकाई

  • गेहूं - राज्य के सभी 38 जिलों में पंचायत स्तरीय फसल के रूप में

  • मकई- राज्य के 31 मकई आच्छादित जिलों में पंचायत स्तरीय फसल के रूप में

  • ईख- राज्य के 16 ईख आच्छादित जिलों में पंचायत स्तरीय फसल के रूप में

  • चना- राज्य के 17 जिलों में जिला स्तरीय फसल के रूप में

  • अरहर- राज्य के 20 जिलों में जिला स्तरीय फसल के रूप में

  • राई सरसों- राज्य के 37 जिलों में जिला स्तरीय फसल के रूप में

  • मसूर- राज्य के 34 जिलों में जिला स्तरीय फसल के रूप में

  • गेहूं- राज्य के 15 जिलों में जिला स्तरीय फसल के रूप में

  • आलू- राज्य के 15 जिलों में जिला स्तरीय फसल के रूप में

  • टमाटर- राज्य के 10 जिलों में जिला स्तरीय फसल के रूप में

  • बैंगन-राज्य के 12 जिलों में जिला स्तरीय फसल के रूप में

  • मिर्ची- राज्य के 12 जिलों में जिला स्तरीय फसल के रूप में

  • गोभी- राज्य के 11 जिलों में जिला स्तरीय फसल के रूप में

ये भी पढ़ें: किसानों के लिए बड़े काम की है ये योजना, बिना गारंटी कम ब्याज दरों पर मिलता है लोन, ऐसे करें आवेदन

बिहार राज्य फसल सहायता योजना रबी 2023-24 मौसम हेतु ऑनलाइन आवेदन

अगर आप भी राज्य सरकारी की इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको सहकारिता विभाग की बिहार राज्य फसल सहायता योजना की आधिकारिक वेबसाइट  पर जाना होगा. जहां पर आपसे पूछी गई सभी जरूरी जानकारी को सही से दर्ज कर आवेदन पत्र को जमा करना होगा. 

English Summary: how to apply rajya fasal sahayata yojana Bihar Government scheme sarkari yojana rajya fasal sahayata yojana Crops of Rabi 2023 24 season Published on: 22 January 2024, 05:24 IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News